होम /न्यूज /झारखंड /पलामू के सरकारी कर्मचारियों की अनोखी पहल, विहान एकेडमी शुरू कर बच्चों को दे रहे निशुल्क शिक्षा

पलामू के सरकारी कर्मचारियों की अनोखी पहल, विहान एकेडमी शुरू कर बच्चों को दे रहे निशुल्क शिक्षा

Free Coaching Center: पलामू में विहान एकेडमी की शुरुआत जिले के छात्रों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा उपलब्ध कराने के उद्देश्य ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट : शशिकांत ओझा

पलामू. जिले के विहान एकेडमी में नवोदय विद्यालय, नेतरहाट स्कूल सहित अन्य प्रतिष्ठित आवासीय विद्यालयों में प्रवेश के लिए तैयारी कराई जाती है. इसके अलावा यहां 7वीं से 10वीं तक के बच्चों को कोचिंग दी जा रही है. साथ ही रेलवे व एसएससी की भी तैयारी कराई जाती है. आपको जानकर आश्चर्य होगा कि ये सारे काम विहान एकेडमी मुफ्त कर रहा है. इसके लिए बच्चों से कोई फीस नहीं चार्ज की जाती.

बता दें कि इस विहान एकेडमी की शुरुआत जिले के छात्रों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से मेदिनी वेलफेयर सोसाइटी ने की की है. इसके तहत बच्चों को निशुल्क शिक्षा दी जा रही है. विभिन्न सरकारी विभागों में काम कर रहे लोगों ने मिलकर इसकी शुरुआत की है.

मुख्यधारा से जोड़ने की कोशिश

मेदिनी वेलफेयर सोसाइटी के संरक्षक व रेलवे विभाग में मुख्य डिपो अधीक्षक के तौर पर कार्यरत अनिल सिंह ने बताया कि समाज में आर्थिक व सामाजिक रूप से पिछड़े तबके को मुख्यधारा से जोड़ने के उद्देश्य से मेदिनी वेलफेयर सोसाइटी का गठन किया गया है. सरकारी कर्मचारियों के प्रयास से इसे चलाया जा रहा है. इसी के तहत विहान एकेडमी की शुरुआत की गई है. जहां बच्चों को बिलकुल निशुल्क शिक्षा दी जा रही है.

150 बच्चों को निशुल्क शिक्षा

कोचिंग में 9वीं के बच्चों को पढ़ा रहे और पलामू में पुलिस अवर निरीक्षक के पद पर कार्यरत नीरज कुमार ने बताया कि ग्रामीण इलाकों में बच्चों को चाह कर गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा नहीं मिल पाती है. संसाधनों की कमी की वजह से कई बार होनहार बच्चे भी पीछे रह जाते हैं. ऐसे बच्चों की मदद के लिए एक पहल की गई है. फिलहाल यहां 150 छात्र-छात्राओं को निशुल्क शिक्षा दी जा रही है.

प्रवेश परीक्षा की तैयारी

नीरज कुमार ने बताया कि नवोदय व नेतरहाट सहित अन्य आवासीय विद्यालयों के लिए एक बैच चलाया जा रहा है. बच्चे इन स्कूलों की प्रवेश परीक्षा की तैयारी कर सकते हैं. इसके अलावा 7वीं से 10वीं तक के बच्चों को फ्री कोचिंग उपलब्ध है. साथ ही रेलवे, एसएससी, जेएससी सहित अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं की भी तैयारी कराई जा रही है. उन्होंने बताया कि यहां पढ़ाने वाले सभी स्टाफ किसी न किसी सरकारी विभाग से जुड़े हैं और निस्वार्थ सेवा दे रहे हैं.

आसान भाषा में पढ़ाई

कोचिंग में पढ़ाई कर रहे सुधीर सिंह ने बताया कि वे जेएस कॉलेज में ग्रेजुएशन के छात्र हैं. यहां कंपीटिशन की तैयारी करने आते हैं. अलग-अलग टीचर के माध्यम से सभी विषयों की पढ़ाई कराई जाती है. वहीं, कक्षा 9वीं की छात्रा सुखम कुमारी ने बताया कि वे पलामू उत्क्रमित उच्च विद्यालय की छात्रा हैं. स्कूल के बाद नियमित रूप से कोचिंग में पढ़ाई करने आती हैं. यहां आसान भाषा में कठिन विषयों को भी समझा दिया जाता है.

Tags: Education news, Jharkhand news, Palamu news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें