अफवाह सुनकर महिला ने किया 'कोरोना माई' का व्रत, तबीयत बिगड़ने से हुई मौत
Palamu News in Hindi

अफवाह सुनकर महिला ने किया 'कोरोना माई' का व्रत, तबीयत बिगड़ने से हुई मौत
कोरोना माई के लिए पूजा करतीं महिलाएं (फाइल फोटो)

लोगों ने बताया कि गांव में अफवाह फैली कि प्रधानमंत्री (PM Modi) ने कहा है कि कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण से बचने के लिए कोरोना माई का व्रत रखना जरूरी है. और जो महिलाएं व्रत रखेंगी, उनके खाते में पैसे भेजे जाएंगे.

  • Share this:
पलामू. जिले के पांडू में कोरोना वायरस से जुड़े अंधविश्वास ने एक महिला की जान ले ली. जानकारी के अनुसार रविवार को सिलदिली के टोला सिकनी में वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण से बचने के लिए 20 से 25 महिलाओं ने कोरोना माई का व्रत (Fasting) रखा था. वशिष्ठ पासवान की पत्नी वैजयंती देवी (40) भी व्रत पर थी. दिनभर की उपवास के बाद शाम को अचानक वैजयंती की तबीयत बिगड़ गयी. परिजनों ने बताया उसका बीपी कम हो गया था और लकवा के भी लक्षण दिखने लगे थे. पेट में दर्द की भी शिकायत था. स्थिति गंभीर होते देख परिजन उसे इलाज के लिए मेदिनीनगर ले जा रहे थे, लेकिन रास्ते में रतनाग गांव के पास वैजयंती की मौत हो गयी.

पीएम के नाम पर फैली अफवाह 

घटना रविवार रात करीब 9 बजे की है. लोगों ने बताया कि गांव में अफवाह फैल गयी कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए कोरोना माई का व्रत रखना जरूरी है. और जो महिलाएं व्रत रखेंगी, उनके खाते में पैसे भेजे जाएंगे. इसी को लेकर सिकनी गांव की 20 से 25 महिलाओं ने व्रत रखा था. लेकिन इस उपवास ने वैजयंती देवी की जान ले ली.



मृतका मूलरूप से रतनाग की रहने वाली थी. लेकिन पूरे परिवार के साथ सिकनी में रहती थी. यहीं खेतीबारी का काम करती था. जानकारी मिलने के बाद पांडू पुलिस ने महिला के शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए मेदिनीनगर स्थित पलामू मेडिकल कॉलेज अस्पताल भेज दिया.
अंधविश्वास से बचने का आग्रह 

पांडू थाना प्रभारी समीर तिर्की ने बताया कि प्रथम दृष्टया लगता है महिला की मौत बीमारी से हुई है. रविवार को उसने उपवास रखा था. सुनने में आ रहा है कि उसने कोरोना माई के लिए व्रत रखा था. उपवास के कारण उसकी तबीयत बिगड़ी और अस्पताल ले जाने के दौरान रास्ते में मौत हो गयी. थानाप्रभारी ने लोगों से आग्रह किया कि इस वैश्विक महामारी से बचाव के लिए किसी तरह के अंधविश्वास न पड़ें. इससे बचने के लिए मास्क का उपयोग करें एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन जरूर करें.

रिपोर्ट- नीलकमल

ये भी पढ़ें- Lockdown में बंद हुई शूटिंग तो मुर्गा बेचने लगे कलाकार, 20 फिल्में लटकी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading