ट्रेन की चपेट में आकर मां के कट गए दोनों पैर, लेकिन चेहरे पर दर्द नहीं खुशी थी क्योंकि...

ट्रेन की चपेट में आई सुचिता

घटना के बाद स्थानीय लोगों ने सुचिता को अस्पताल में भर्ती कराया है. उसकी हालत नाजुक बनी हुई है.

  • Share this:
    ट्रेन की चपेट में आने से मां के दोनों पैर कट गये. लेकिन दर्द से कराहने की जगह उसके चेहरे पर खुशी के भाव थे. ये इसलिए क्योंकि उसने अपने 5 महीने के बेटे को सुरक्षित बचा लिया था. दिल को छू लेने वाली यह घटना पलामू के मेदिनीनगर से सामने आई.

    दरअसल मेदिनीनगर के रेड़मा ओवरब्रिज के पास कौड़िया गांव की रहने वाली सुचिता अपने पांच माह के बच्चे को लेकर ट्रैक पार कर रही थी, तभी मालगाड़ी आ गई. बेटे को लेकर सुचिता पटरी के बीचोबीच लेट गई. बच्चा बच गया, मगर सुचिता के दोनों पैर कट गये. हादसे के बाद बेहोशी की हालत में भी सुचिता बेटे को ढूंढ़ती रही.

    घटना के बाद स्थानीय लोगों ने सुचिता को अस्पताल में भर्ती कराया है. उसकी हालत नाजुक बनी हुई है. डॉक्टरों के मुताबिक दोनों पैर कट जाने के चलते उसके शरीर से काफी खून बह गया है. उधर बच्चे को सीडब्ल्यूसी ने अपने संरक्षण में ले लिया है. बता दें कि सुचिता के पति की मौत इसी साल फरवरी में हुई थी.

    (नीलकमल की रिपोर्ट)

    ये भी पढ़ें- ट्रक की चपेट में आने से मां व दो बेटों की मौत, पिता की हालत गंभीर

    लेनदेन के विवाद में लाठी-डंडों से पीट-पीटकर अधेड़ की हत्या

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.