Home /News /jharkhand /

मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन के गृह जिले में वृद्धा पेंशन से कृषि लोन की कटौती, किसानों को कर्ज माफी का इंतजार

मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन के गृह जिले में वृद्धा पेंशन से कृषि लोन की कटौती, किसानों को कर्ज माफी का इंतजार

Agriculture Loan Waiver: मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन के गृह जिले रामगढ़ के किसानों को कृषि ऋण माफी का इंतजार है. बैंक वसूली के लिए लगातार नोटिस भेज रहा है. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

Agriculture Loan Waiver: मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन के गृह जिले रामगढ़ के किसानों को कृषि ऋण माफी का इंतजार है. बैंक वसूली के लिए लगातार नोटिस भेज रहा है. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

CM Home District News: रामगढ़ जिले के आंकड़े पर गौर करें तो 12,363 कृषि लोन लिए किसानों में से 5,714 किसानों का ऋण के रूप में 21 करोड़ 22 लाख रुपये की माफी की गई है. बताया गया है कि बाकी बचे 6,759 किसानों की ऋण माफी की प्रक्रिया के लिए 25 दिसंबर का तिथि निर्धारित की गई है. इस तिथि को किसानों को अपने नजदीकी सीएससी सेंटर में जाकर 1 रुपए का टोकन लेकर ई-केवाईसी करा सकते हैं. इसके बाद उनकी ऋण माफी की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी.

अधिक पढ़ें ...

    जावेद खान

    रामगढ़. झारखंड के मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन के गृह जिले रामगढ़ के किसानों को चुनाव के दौरान किए गए एक वादे का शिद्दत से इंतजार है. हेमंत सोरेन ने विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान कहा था कि यदि वह सत्‍ता में आते हैं तो सबसे पहले कृषि ऋण माफ करने को लेकर योजना लाएंगे. हेमंत सोरेन को सत्‍ता में 2 साल से ज्‍यादा का समय हो चुका है, लेकिन किसानों से किया गया वादा अभी तक पूरा नहीं किया जा सका है. मुख्‍यमंत्री के गृह जिले रामगढ़ के किसानों को इस वादे पर अमल का अभी तक इंतजार है. कर्ज लेने वाले किसानों की स्थिति ऐसी हो चुकी है कि बैंक अब वृद्धा पेंशन से कर्ज के पैसे काट रही है.

    हेमंत सोरेन ने सत्ता में आने से पूर्व चुनाव के समय झारखंड के किसानों से वादा किया था कि उनकी पार्टी सत्ता में आएगी तो किसानों का ऋण को माफ कर दिया जाएगा. लेकिन, मुख्यमंत्री के गृह जिले रामगढ़ में ही कई किसानों का ऋण अब तक माफ नहीं हुआ है. बैंक कर्ज लेने वाले किसानों से ऋण वसूली के लिए उन्‍हें नोटिस पर नोटिस दे रहा है. लगातार मिल रहे नोटिस से परेशान किसान बैंकों का चक्‍कर लगाने को मजबूर हैं.

    झारखंड महागठबंधन में खटपट! मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन संग बैठक से कांग्रेस का किनारा

     15,000 लिय था कर्ज, अब चुकाने हैं 43 हजार रुपये
    मांडू प्रखंड के नावाडीह गांव के ऐसे ही एक किसान ने अपनी व्यथा को न्यूज़18 हिन्‍दी को बताई. नावाडीह के वासुदेव महतो ने बताया कि उन्होंने 30,000 रुपये का लोन लिया था जो बढ़कर 50,000 से अधिक हो गया है. अब बैंक वाले हमारे वृद्धा पेंशन की राशि से ऋण की वसूली कर रहे हैं. वासुदेव ने बताया कि वृद्धा पेंशन उनके लिए बुढ़ापे का सहारा है. इसी तरह किशुन महतो ने वर्ष 2010 में 15,000 रुपये का कृषि लोन लिया था जो अब बढ़कर 43000 से अधिक हो गया है. भीम महतो ने बताया कि वर्ष 2011 में 50 हज़ार लोन लिए थे, अब वह राशि बढ़कर 91 हज़ार रुपये हो गई है.

    बैंक दे रहे नोटिस, घर से भाग रहे किसान
    कर्जा न चुकाने पर बैंक वाले नोटिस पर नोटिस दे रहे हैं. ऐसे में किसानों को घर से भागना पड़ रहा है. महेंद्र महतो ने बताया कि उन्होंने 10 हज़ार का लोन लिया था. अब सूद लगातार बढ़ रहा है. कोरोना काल में आमदानी घट गई है, लेकिन बैंक वाले नोटिस भेज रहे हैं. दूसरी ओर सरकार लोन माफी की झूठे वायदे कर रही है. रामगढ़ जिले के आंकड़े पर गौर करें तो 12,363 कृषि लोन लिए किसानों में से 5,714 किसानों का ऋण के रूप में 21 करोड़ 22 लाख रुपये की माफी की गई है. बताया गया है कि बाकी बचे 6,759 किसानों की ऋण माफी की प्रक्रिया के लिए 25 दिसंबर का तिथि निर्धारित की गई है. इस तिथि को किसानों को अपने नजदीकी सीएससी सेंटर में जाकर 1 रुपए का टोकन लेकर ई-केवाईसी करा सकते हैं. इसके बाद उनकी ऋण माफी की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी. आत्मा के परियोजना निदेशक प्रवीण सिंह ने कहा कि किसानों के कर्ज माफी के लिए 25 दिसंबर को किसान सीएससी में 1 रुपये का टोकन लेकर ई-केवाईसी करा कर ऋण माफी योजना का लाभ उठा सकते हैं.

    Tags: CM Hemant Soren, Loan waiver

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर