झारखंड में फलेंगे कश्मीरी सेब, रामगढ़ के किसान की 7 साल की मेहनत लाई रंग

किसान बॉडी महतो के खेत में जल्द ही सेब फलने लगेंगे

Ramgarh News: किसान बॉडी महतो और उनके पुत्र देवकी महतो ने कलमी सेब के लगभग 100 पौधे अपने 20 डिसमिल जमीन पर लगाया. पौधे अब धीरे-धीरे बड़े हो रहे हैं. इनमें भी जल्द ही फल आने लगेगा.

  • Share this:
    रिपोर्ट- जावेद खान

    रामगढ़. सेब का नाम जेहन में आते ही कश्मीर और हिमाचल प्रदेश की याद आ जाती है. क्योंकि सेब की खेती (Apple Farming) अमूमन ठंडे प्रदेशों में ही होता है. वहां की जलवायु सेब के बागानों के अनुकूल होता है. लेकिन झारखंड जैसे गर्म राज्य में सेब की खेती के बारे में सोचना भी मुश्किल है. लेकिन रामगढ़ के गोला के सरलाकला गांव के किसान बॉडी महतो ने सेब की सफल बागवानी लगाकर इसे सच कर दिखाया है.

    बॉडी महतो ने सेब की खेती की शुरुआत 12 वर्ष पूर्व की. तब बाजार से खरीद कर लाये सेब के बीज को अपने बागान में लगाया था. पौधा सात साल में फल देने लगा. इससे उत्साहित होकर बॉडी महतो और उनके पुत्र देवकी महतो ने कलमी सेब के लगभग 100 पौधे अपने 20 डिसमिल जमीन पर लगाया. पौधे अब धीरे-धीरे बड़े हो रहे हैं. इनमें भी जल्द ही फल आने लगेगा.

    सेब की खेती के लिए उन्होंने बोरिंग कराया और ड्रिप विधि से सिचाई की व्यवस्था की है. क्योंकि सेब के पौधों को पानी की ज़रुरत ज्यादा पड़ती है. पौधे को दीमक से बचाने के लिए BSC पाउडर का झिड़काव समेत, विटामिन की दवा भी देना पड़ती है.

    बॉडी महतो और उनके पुत्र देवकी महतो कहते हैं कि उनके बागान में सभी सेब कश्मीरी नस्ल के हैं. उनके बागान का सेब पूरा झारखंड खाये, इसके लिए वे कड़ी मेहनत कर रहे हैं. सरकार से वो आर्थिक सहयोग भी चाहते हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.