लाइव टीवी

तीन दिन लाइन में लगने के बाद जमा होता है बिजली का बिल!
Ramgarh News in Hindi

ETV Bihar/Jharkhand
Updated: February 21, 2018, 12:41 PM IST
तीन दिन लाइन में लगने के बाद जमा होता है बिजली का बिल!
झारखंड: बिजली बिल जमा कराती महिलाएं ETV/News18

14 से 15 हजार कंज्यूमर बिजली विभाग के रवैये से परेशान हैं. इस कार्यालय में महीने के तीन दिन ही बिल जमा किए जा सकते हैं, लेकिन छुट्टी होने पर वो भी जमा नहीं हो पाते. दर्जनों गांव के कंज्यूमर सुबह से शाम तक लाइन में खड़े रहकर अपनी बारी का इंतजार करते हैं.

  • Share this:
रामगढ़ जिले के बरकाकाना रेलवे स्टेशन के विद्युत कार्यालय में बिजली बिल जमा करने के लिए उपभोक्ताओं को जद्दोजहद करनी पड़ती है. 14 से 15 हजार कंज्यूमर बिजली विभाग के रवैये से परेशान हैं. इस कार्यालय में महीने के तीन दिन ही बिल जमा किए जा सकते हैं, लेकिन छुट्टी होने पर वो भी जमा नहीं हो पाते. कार्यालय में बिल जमा करने वाले अधिकारी ने कहा कि यहां एक साथ 14 से 15 हजार लोग बिल जमा कराने आते हैं ऐसे में भीड़ हो जाती है. अधिकारी ने गुस्से में कहा कि बिल जमा करने दीजिए, डिस्टर्ब मत करो.

जागरूकता के अभाव और बिजली विभाग की नाकामी के कारण बरकाकाना विद्युत कार्यालय में लंबी लाइनें लगी रहती हैं. लोग परेशान रहते मगर बिजली विभाग द्वारा परेशानी दूर करने का कोई उपाय नहीं किया जाता. दर्जनों गांव के कंज्यूमर सुबह से शाम तक लाइन में खड़े रहकर अपनी बारी का इंतजार करते हैं. बिल जमा कराने आए उपभोक्ता किशून मंडा ने बताया कि तीन दिनों में कई लोगों का नंबर नहीं आता है ऐसे में बिजली बिल जमा कराने के लिए ज्यादा समय चाहिए.

विद्युत कार्यालय बरकाकाना पर कैशलेस व ऑनलाइन की सुविधा नहीं होने के कारण लोगों को ज्यादा परेशानी होती हैं. इस काउंटर पर नकद ही लेन देन किया जाता है. उपभोक्ता सुनील राम ने कहा कि जिस तरह से ऑनलाइन बिल दिया जाता है,उसी तरह जमा करने की व्यवस्था होनी चाहिए.

यह भी पढ़े- बेटे के इलाज के लिए लाचार मां ने बेचा ढाई महीने का बच्चा



यह भी पढ़े- दो साल से बन रहा है मॉडल स्कूल, एक कमरे में चलती है 3 कक्षाएं!

यह भी पढ़े- 20 सीसीटीवी के जरिये सरायकेला जेल की सुरक्षा हुई सख्त

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रामगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 21, 2018, 12:41 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

भारत

  • एक्टिव केस

    5,095

     
  • कुल केस

    5,734

     
  • ठीक हुए

    472

     
  • मृत्यु

    166

     
स्रोत: स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार
अपडेटेड: April 09 (08:00 AM)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर

दुनिया

  • एक्टिव केस

    1,099,679

     
  • कुल केस

    1,518,773

    +813
  • ठीक हुए

    330,589

     
  • मृत्यु

    88,505

    +50
स्रोत: जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, U.S. (www.jhu.edu)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर