रामगढ़ में NH-33 बाद सड़क हादसों का केंद्र बन रहा है NH-23

प्रतिदिन औसतन एक की मौत और एक-दो सड़क हादसों में घायल हो रहे हैं.


Updated: April 17, 2018, 12:25 PM IST
रामगढ़ में NH-33 बाद सड़क हादसों का केंद्र बन रहा है NH-23
रामगढ़ में एनएस 23 में दुर्घटनाग्रस्त मोटर साइकिल.

Updated: April 17, 2018, 12:25 PM IST
झारखंड के रामगढ़ जिले में एनएच 33 के बाद एनएच 23 सड़क हादसों के लिए डेंजर जोन का बन गया है. रामगढ़ बोकारो धनबाद जाने वाली मुख्य मार्ग के निर्माण के कुछ माह ही गुजरे हैं. मगर इस सड़क में लोग प्रतिदिन दुर्घटना का शिकार हो रहे हैं. पूरी सड़क बनकर तैयार भी नहीं हुई है. सड़क निर्माणाधीन हैऔर पिछले एक सप्ताह के अंदर चार पांच लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि कई घायल हुए हैं.

प्रतिदिन औसतन एक की मौत और एक-दो सड़क हादसों में घायल हो रहे हैं. 15 अपैल को तीन अलग-अलग जगहों में सड़क हादसे हुए और इस हादसे में तीन लोगों की मौत घटना स्थल पर ही हो गई है. पहली दुर्घटना गोला के मगनपुर में दो ट्रक टकराने से एक की मौत और दो घायल, दूसरी दुर्घटना रामगढ़ थाना से महज दो सौ मीटर की दूरी पर हाइवे की चपेट में आने से एक की मौत और तीन घायल, तीसरी दुर्घटना कोठार चौक के पास हुई. जिसमें एक की मौत और एक घायल हुआ था.

एनएच 33 में रामगढ़ घाटी मौत की घाटी से जानी जाती है. यहां हर दिन अक्सर सड़क दुर्घटनाएं होती रहती है. ठीक इसी प्रकार एनएच 23 में दुर्घटनाएं बढ़ गई हैं. सड़क बनने के बाद लोग अक्सर तेज गति से वाहन चलाने लगे हैं, जिसके कारण क्षेत्र में सड़क दुर्घटनाएं बढ़ गई है.

(रामगढ़ से जयंत की रिपोर्ट)
IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Jharkhand News in Hindi यहां देखें.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर