दूध न देने पर भड़का आरपीएफ जवान, रेलकर्मी के घर में घुसकर की ताबड़तोड़ फायरिंग, तीन की मौत

News18 Jharkhand
Updated: August 18, 2019, 3:47 PM IST
दूध न देने पर भड़का आरपीएफ जवान, रेलकर्मी के घर में घुसकर की ताबड़तोड़ फायरिंग, तीन की मौत
आरपीएफ के जवान ने रेलकर्मी के घर में घुसकर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी. इस घटना में तीन लोगों की मौत हो गई.

बरकाकाना के गांधीनगर रेलवे कॉलोनी में रहने वाले आरपीएफ जवान पवन सिंह ने रेलकर्मी के घर में घुसकर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी, जिसमें तीन लोगों की मौत हो गई.

  • Share this:
झारखंड के रामगढ़ में देर रात एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई. आरपीएफ के एक सनकी जवान पवन सिंह ने एक ही परिवार के पांच लोगों पर अंधाधुंध गोलियां चला दीं. इस गोलीबारी में तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि दो को गंभीर अवस्था में रिम्स भेजा गया है. इस गोलीबारी में एक ही परिवार की एक महिला समेत दो पुरुषों की मौत हो गई है. आक्रोशित लोगों ने शनिवार देर रांची-पटना मुख्य मार्ग को कुज्जू ओपी के पास जाम कर दिया. पुलिस को जाम हटाने में काफी मशक्कत करनी पड़ी.

दूध बंद करने से बौखलाया जवान

आक्रोशित लोगों ने बताया कि बरकाकाना के गांधीनगर रेलवे कॉलोनी में रहने वाले आरपीएफ जवान पवन सिंह ने रेलकर्मी के घर में घुसकर ताबड़तोड़ फायरिंग की. इसमें 56 वर्षीय अशोक राम की मौत हो गई. वह रेलवे में पोर्टर थे. इसके साथ ही उनकी पत्नी लीलावती देवी की भी मौत हो गई. लीलावती डीसी कार्यालय में आउटसोर्स पर फोर्थ ग्रेड कर्मचारी थीं. इस घटना में अशोक राम की गर्भवती बेटी मीना देवी की भी मौत हो गई, जबकि बेटी सुमन देवी और बेटे संजय राम को गंभीर अवस्था में रिम्स भेजा गया है. बता दें कि गोलीबारी के दौरान उनकी दूसरी बेटी प्रियंका कुमारी और बेटा बिट्टु दूसरे कमरे में छिप गए थे. गोलीबारी के बाद से आरोपी जवान पवन सिंह फरार है. गौरतलब है कि रेलकर्मी अशोक राम का परिवार गाय पालता था और उसका दूध भी बेचते थे. आरोपी जवान इनसे दूध लेता था और पैसे देने में आनाकानी करता था. इससे तंग आकर अशोक ने 25 दिन पहले उसे दूध देना बंद कर दिया था. इसी बात से नाराज होकर आरोपी ने घर में घुसकर फायरिंग कर दिया.

प्रदर्शनकारियों ने रेल परिचालन किया बाधित

हत्‍याकांड से गुस्‍साए लोगों ने रामगढ़-पतरातू मुख्य मार्ग को सुबह से ही जाम कर दिया. इतना ही नहीं कुछ लोगों ने बरकाकाना रेलवे स्टेशन पर परिजनों के साथ रेलवे का परिचालन बंद करवा दिया, जिससे सड़क और रेलवे मार्ग दोनों हो बाधित हो गए. परिजनों का मांग है कि आरोपी पवन सिंह को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाए. बहरहाल पूरे मामले को लेकर पुलिस अपनी तफ्तीश में जुट गई है. पुलिस अधीक्षक प्रभात कुमार का कहना है कि आरोपी आरपीएएफ के जवान को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

आक्रोशित लोगों ने शनिवार देर रांची-पटना मुख्य मार्ग को कुज्जू ओपी के पास जाम कर दिया. पुलिस को जाम हटाने में काफी मशक्कत करनी पड़ी.


(रामगढ़ से जयंत की रिपोर्ट)
Loading...

ये भी पढ़ें - खाना देने में देरी हुई तो थानेदार ने होटल मैनेजर को पीटा

ये भी पढ़ें - ...जब घायल कांवरियों को उनके हाल पर छोड़ दूध लूटने लगे लोग

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रामगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 18, 2019, 1:57 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...