• Home
  • »
  • News
  • »
  • jharkhand
  • »
  • RPF ने झारखंड की 4 लड़कियों को मानव तस्करों के चंगुल से छुड़ाया, वरना दिल्ली में 10,000 में बेची जातीं

RPF ने झारखंड की 4 लड़कियों को मानव तस्करों के चंगुल से छुड़ाया, वरना दिल्ली में 10,000 में बेची जातीं

आरपीएफ बरकाकाना ने मानव तस्करी के खिलाफ कार्रवाई की.

आरपीएफ बरकाकाना ने मानव तस्करी के खिलाफ कार्रवाई की.

Special Drive Against Human Trafficking in Jharkhand : रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स की सतर्कता से चार लड़कियों को मानव तस्करों के चंगुल से छुड़ा लिया गया. गुमला ज़िले की इन लड़कियों को वहां भेज दिया गया है और रांची के तस्कर को हिरासत में लिया गया है.

  • Share this:
    रिपोर्ट - जावेद खान

    रामगढ़. गुमला ज़िले की दो नाबालिगों समेत चार किशोरियों को बहला फुसलाकर दिल्ली ले जाया जा रहा था. नौकरी के नाम पर ले जाई जा रही इन लड़कियों का सौदा पहला ही किया जा चुका था, लेकिन आरपीएफ की मुस्तैदी से इन लड़कियों को मानव तस्करों के हाथों से छुड़ा लिया गया. तस्करों की गिरफ्तारी कर ली गई है, वहीं लड़कियों को गुमला पुलिस के सुपुर्द कर दिया गया है. इस सफलता के बाद आरपीएफ ने कहा कि मानव तस्करी को रोकने के लिए वह स्पेशल ड्राइव (Special Drive) चला रही है और यह मिशन जारी रहेगा.

    आरपीएफ पोस्ट बरकाकाना की टीम ने बरकाकाना जंक्शन से मानव तस्करों के चंगुल से 14 से 18 साल की चार लड़कियों को बचाया. सभी लड़कियां गुमला ज़िले के कामडारा थाना क्षेत्र की रहने वाली बताई गई हैं. वहीं, इन्हें दिल्ली में बेचने ले जा रहा दलाली का आरोपी रांची का बताया गया है. आरपीएफ पुलिस ने बताया कि इस सफलता के पीछे उसके सूचना तंत्र का बड़ा हाथ रहा.

    ये भी पढ़ें : झारखंड में हॉर्स ट्रेडिंग के आरोपों में फंसी BJP ने कहा, 'SIT जांच करवाई जाए'

    jharkhand news, jharkhand crime news, jharkhand human trafficking, girls trafficking, झारखंड न्यूज़, झारखंड क्राइम न्यूज़, झारखंड में मानव तस्करी
    बरकाकाना में छुड़ाई गई किशोरियां और पकड़े गए तस्कर.


    कैसे ट्रेन से छुड़ाई गईं लड़कियां?
    आरपीएफ पुलिस को सूचना मिली थी कि 02583 अप झारखंड स्वर्णजयंती एक्सप्रेस के कोच नंबर एस--7 में कुछ नाबालिग बच्चियों को बहला--फुसला कर दिल्ली ले जाया जा रहा था. इस सूचना पर आरपीएफ इंस्पेक्टर एम रमेश की टीम ने प्लेटफार्म नंबर 3 पर ट्रेन पहुंचते ही बर्थ नंबर 1, 4, 9 और 12 पर यात्रा कर रही बच्चियों से पूछताछ की. उन्होंने अपने नाम 14 वर्षीय आइलो तोपनो, 16 वर्षीय रिझन तोपनो के साथ ही 18 वर्षीय निशु तोपनो और मोनिका तोपनो बताए.

    कैसे पकड़े गए तस्कर?
    पूछताछ में इन किशोरियों ने बताया कि उन्हें काम दिलाने के लिए दिल्ली ले जा रहा शख्स एस--6 बोगी में था. पुलिस ने उस कोच से खूंटी ज़िले के 19 वर्षीय मंजू होरो और रांची ज़िले के 40 वर्षीय तस्कर सोमरा मुंडा को पकड़ा. आरपीएफ, बड़काकाना के इंस्पेक्टर रमेश ने बताया कि ह्यूमन ट्रैफिकिंग ( Human Trafficking) को लेकर स्पेशल ड्राइव चला रही आरपीएफ ने सूचना पर त्वरित कार्रवाई करते हुए इस मामले का पर्दाफाश किया. इंस्पेक्टर ने यह भी बताया कि दलाल लड़कियों को दिल्ली में 10-10 हज़ार में बेचने का सौदा कर चुका था.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज