स्किल समिट में एकसाथ 27 हजार युवाओं को मिली नौकरी

स्वामी विवेकानन्द की जयन्ती पर राज्य सरकार ने सूबे के युवाओं को बड़ा तोहफा दिया. एक साथ सूबे के 27 हजार 8 सौ युवाओं को विभिन्न निजी कम्पनियों का नियुक्ति पत्र सौंपा. इस मौके पर मुख्यमंत्री ने जहां युवाओं को शुभकामनाएं देते हुए अगले वर्ष एक लाख युवाओं को रोजगार देने की बात कही, वहीं केंद्रीय मंत्रियों ने राज्य सरकार के इस पहल की जमकर सराहना की.

Manoj Kumar | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: January 12, 2018, 7:11 PM IST
स्किल समिट में एकसाथ 27 हजार युवाओं को मिली नौकरी
रांची में आयोजित स्किल समिट 2018
Manoj Kumar
Manoj Kumar | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: January 12, 2018, 7:11 PM IST
स्वामी विवेकानन्द की जयन्ती पर राज्य सरकार ने सूबे के युवाओं को बड़ा तोहफा दिया. एक साथ सूबे के 27 हजार 8 सौ युवाओं को विभिन्न निजी कम्पनियों का नियुक्ति पत्र सौंपा. इस मौके पर मुख्यमंत्री ने जहां युवाओं को शुभकामनाएं देते हुए अगले वर्ष एक लाख युवाओं को रोजगार देने की बात कही, वहीं केंद्रीय मंत्रियों ने राज्य सरकार के इस पहल की जमकर सराहना की.

खेलगांव स्थित ताना भगत इंडोर स्टेडियम एक अनूठे आयोजन का गवाह बना. इस खेल परिसर में एक साथ 27 हजार 8 सौ युवाओं को नियुक्ति पत्र बांटा गया. मुख्यमंत्री रघुवर दास ने इन युवाओं को नियुक्ति पत्र सौंपा.  मुख्यमंत्री ने इस मौके पर जहां अगले वर्ष एक लाख युवाओं को रोजगार देने की घोषणा की, वहीं विदेशों में नौकरी की संभावनाओं को देखते हुए रांची में विदेश भवन बनाने की भी घोषणा की.

इस मौके पर आस्ट्रेलिया, यूके और सिंगापुर की कम्पनियां समेत आधा दर्जन से अधिक कम्पनियों के साथ कौशल विकास को लेकर एमओयू भी किया गया. केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने राज्य सरकार के इस पहल की सराहना की, वहीं झारखंड से होकर गुजरने वाली गैस पाइप लाइन के जल्द शुरु करने की घोषणा भी की. केंद्रीय उड्डयन राज्यमंत्री जयंत सिन्हा ने रांची में अंतराष्ट्रीय एयरपोर्ट बनाने का ऐलान किया.

कार्यक्रम में आए देश-विदेश के कम्पनियों के प्रतिनिधियों ने राज्य सरकार की इस पहल की जमकर सराहना की और झारखंड के युवाओं को रोजगार से जोड़ने की प्रतिबद्धता दोहरायी.  स्किल समिट में पहुंचे फिल्म निर्माता सुभाष घई ने भी युवाओं को स्वाबलंबी और स्किल्ड बनाने को लेकर टिप्स दिये.

कार्यक्रम की सफलता को लेकर जहां राज्य सरकार के अधिकारी उत्साहित नजर आये,  वहीं कार्यक्रम के केंद्र बिंदु में रहे रोजगार पाने वाले 27 हजार युवा काफी खुश दिखे. उनके चेहरे पर रोजगार पाने की चमक थी,  तो आंखों में सपने पूरे होने की संतुष्टि भी.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर