झारखंड में Corona Virus के 29 नए मामले आए सामने, अब संक्रमितों की संख्या 425 के पार

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के दो अधिकारी ने कोरोना महामारी के खत्‍म होने के समय का दावा किया है.

आज देर रात जारी रिपोर्ट के अनुसार, राज्य में 426 संक्रमितों में से 252 प्रवासी मजदूर (Migrant Labor) हैं जो देश के विभिन्न भागों से राज्य में वापस अपने घरों को लौटे हैं.

  • Share this:
    रांची. झारखंड (Jharkhand) में लौटे प्रवासी श्रमिकों के कारण कोरोना वायरस (Corona virus) संक्रमण के मामले बढ़ते जा रहे हैं. पिछले चौबीस घंटे में कुल 29 नये मामले सामने आने से अब राज्य में संक्रमित मरीजों की संख्या 426 हो गई है. स्वास्थ्य विभाग (Health Department) की आज जारी कोरोना वायरस रिपोर्ट के अनुसार, झारखंड में पिछले चौबीस घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 29 नये मामले सामने आये जिन्हें मिलाकर कुल मामले बढ़कर 426 हो गए. कल देर शाम तक राज्य में कोरोना वायरस मामलों की कुल संख्या 397 बतायी गयी थी. हालांकि देर रात 11 अन्य संक्रमित पाये जाने के बाद राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या 408 तक पहुंच गयी थी.

    आज देर रात जारी रिपोर्ट के अनुसार, राज्य में 426 संक्रमितों में से 252 प्रवासी मजदूर हैं जो देश के विभिन्न भागों से राज्य में वापस अपने घरों को लौटे हैं. आज संक्रमित पाये गये लोगों में भी अधिकतर प्रवासी मजदूर हैं. राज्य के 426 संक्रमितों में से अब तक 175 ठीक होकर अपने घरों को लौट चुके हैं. जबकि चार की मौत हो चुकी है. इसके अलावा 247 अन्य संक्रमितों का इलाज विभिन्न अस्पतालों में जारी है. आज सरकारी प्रयोगशालाओं में कुल 1662 नमूनों की जांच हुई जिनमें 14 संक्रमित पाये गये.वहीं, निजी प्रयोगशालाओं में 238 नमूनों की जांच में चार लोग संक्रमित पाये गये.

     इलाजरत पांच कोरोना संक्रमित मरीजों को मंगलवार को छुट्टी दे दी गई
    वहीं, हजारीबाग मेडिकल कॉलेज अस्पताल में इलाजरत पांच कोरोना संक्रमित मरीजों को मंगलवार को छुट्टी दे दी गई. इनमें दो वैसी महिलाएं भी शामील हैं, जो हाल में मां बनीं. इसी के साथ जिले में पिछले 24 घंटे के अंदर 12 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर लौट गए. इनसभी को अब 14 दिन के होम क्वारंटाइन में रहना होगा. स्वस्थ होने वाले मरीजों में शामिल दो मांओ के नवजात का भी सैंपल लेकर टेस्ट किया गया. लेकिन दोनों की रिपोर्ट निगेटिव आई. ये दोनों नवजात संक्रमित मांओ के पास ही रहे और उनका स्तनपान भी किया. लेकिन नवजातों में कोरोना संक्रमण नहीं पाया गया. अब दोनों मांओ का भी दूसरी रिपोर्ट निगेटिव आयी. जिसके बाद दोनों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई.

    (इनपुट- भाषा)

    ये भी पढ़ें- 

    सिर कटी लाश मिलने पर सीमा विवाद में उलझी दो थाने की पुलिस,फिर क्या हुआ पढ़ें..

    झारखंडः नम आंखों से राजेंद्र सिंह को विदाई, CM हेमंत बोले- खो दिया अभिभावक