अपना शहर चुनें

States

COVID-19 Update: झारखंड में कोरोना संक्रमण के 65 नए केस, संक्रमितों की संख्या 118425

(सांकेतिक फोटो)
(सांकेतिक फोटो)

झारखंड राज्य के कुल 118425 संक्रमितों में से 116589 अब तक ठीक होकर अपने घरों को लौट चुके हैं. इसके अलावा 772 अन्य संक्रमितों का इलाज विभिन्न अस्पतालों में जारी है. वहीं 1064 की मौत हो चुकी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 28, 2021, 8:33 AM IST
  • Share this:
रांची. झारखंड में बुधवार को कोविड-19 के 65 नये मामले सामने आये जिससे राज्य में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 118425 हो गई. यह जानकारी स्वास्थ्य विभाग की एक बुलेटिन में दी गई. स्वास्थ्य विभाग की जारी रिपोर्ट के अनुसार राज्य में पिछले चौबीस घंटे में कोरोना वायरस संक्रमित किसी भी मरीज की मौत नहीं हुई जिससे राज्य में मृतक संख्या 1064 बनी रही. झारखंड राज्य के कुल 118425 संक्रमितों में से 116589 अब तक ठीक होकर अपने घरों को लौट चुके हैं. इसके अलावा 772 अन्य संक्रमितों का इलाज विभिन्न अस्पतालों में जारी है. वहीं 1064 की मौत हो चुकी है.

राज्य में पिछले चौबीस घंटे में कुल 12869 नमूनों की जांच की गयी जिनमें से 65 संक्रमित पाये गये. इन नये संक्रमितों में रांची में 53, पूर्वी सिंहभूम में 05 और सिमडेगा में तीन मामले शामिल हैं.

Corona Warriors के सामने बड़ी परेशानी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लगातार कोरोना वॉरियर्स  को सम्मान देने की बात करते हैं. कोरोना वैक्सीन आने के बाद भी कोरोना वॉरियर्स को इसकी पहली डोज दी जा रही है. लेकिन झारखंड  की राजधानी रांची में कोरोना से हर दिन दो चार हो रहे स्वास्‍थ्य कर्मियों को सैलरी भी नहीं मिल रही है. यह हाल रांची के सदर अस्पताल में कोरोना सैम्पल की जांच में लगे लैब तकनीशियन और डेटा एंट्री ऑपरेटर का है.



4 महीने से नहीं मिला वेतन

झारखंड में कोरोना सैम्पल जांच के लिए 5 मिलियन यानी कि 50 लाख से ऊपर पहुंचाने में अहम भूमिका निभाने वाले लैब टेक्नीशियन हकदार तो पुरस्कार के थे पर सम्मान और पुरस्कार तो दूर 4 महीने से उन्हें वेतन नहीं मिला है. अब स्थिति यह कि किसी को उसका मकान मालिक घर खाली करने को कह रहा है तो किसी को उधार राशन देने के लिए दुकानदार तैयार नहीं है. सदर अस्पताल में कोरोना जांच के आंकड़े की डेटा एंट्री करने वाली पूजा कहती हैं कि भाई के इलाज के लिए कर्ज लिया था, जिसे वह चुका नहीं पा रहीं, अब तो कांटाटोली में जिस किराये के घर में वह रहती है वहां मकान मालिक भी घर खाली करने के लिए बोलता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज