प्रधानमंत्री की इस योजना का लाभ लेने भारी संख्या में रिम्स पहुंच रहे हैं लोग

इस योजना के तहत तहत जहां एक हजार से ज्यादा लाभुकों का गोल्डन कार्ड बनाया जा चुका है, तो वहीं 100 से ज्यादा मरीज रिम्स के अलग अलग विभागों में योजना के तहत इलाज करा रहे हैं, जिससे आमजन को काफी फायदा पहुंचेगा. इस योजना के लागू होने से रोगियों का इलाज के लिए कम कीमत चुकानी पड़ेगी.

News18 Jharkhand
Updated: November 3, 2018, 6:00 PM IST
प्रधानमंत्री की इस योजना का लाभ लेने भारी संख्या में रिम्स पहुंच रहे हैं लोग
रिम्स
News18 Jharkhand
Updated: November 3, 2018, 6:00 PM IST
झारखंड के सबसे बड़े अस्पताल रिम्स में  प्रधानमंत्री जनआरोग्य योजना ने रफ्तार पकड़ ली है. यहां प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना के तहत 1,000 से ज्यादा मरीजों का गोल्डन कार्ड बनाया जा चुका है. साथ ही रिम्स के अलग- अलग विभागों में योजना के तहत 100 से ज्यादा मरीजों का इलाज किया जा रहा है.

रिम्स में पीएम जन आरोग्य योजना के तहत इलाज करवा रहे रोगियों को किसी तरह की परेशानी न हो इसके लिए भी रिम्स निदेशक के नेतृत्व में एक विशेष टीम का गठन किया गया है.

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंन्द्र मोदी ने बीते 23 सितंंबर को राज्य की राजधानी रांची से विश्व की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना, आयुष्मान भारत के तहत जन आरोग्य योजना का शुभारंभ किया था. इस योजना का लक्ष्य गरीब परिवारों को महंगे मेडिकल खर्च से निजात दिलाना है. इस योजना में गरीब, वंचित ग्रामीण परिवार और शहरी श्रमिकों को लाभार्थी के रूप में रखा गया है. योजना के तहत प्रत्येक परिवार को सालाना पांच लाख रुपए की मेडिकल कवरेज दी जाएगी. लाभार्थी सरकारी या निजी अस्पताल में अपना इलाज कैशलेस करा सकेंगे.

रिम्स निदेशक डॉ. आर के श्रीवास्तव ने बताया कि ब्रांडेड जेनेरिक दवाओं की खरीदारी कर रिम्स प्रशासन का जोर अधिक से अधिक मरीजों के इलाज पर रहेगा. इससे रिम्स अपने आर्थिक संसाधनों का बेहतर उपयोग कर पाएगा.

( रांची से उपेंद्र की रिपोर्ट )

ये भी पढ़े-झारखंड से 'आयुष्मान भारत' की शुरुआत, PM बोले- मिला गरीबों की सेवा का मौका

ये भी देखें- VIDEO: आयुष्मान भारत: यहां लाभार्थी बनवा पायेंगे गोल्डन कार्ड
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर