vidhan sabha election 2017

'कृषि क्षेत्र के युवा अपनी सोच को उद्यम के रूप में विकसित कर सकते हैं'

Manoj Kumar | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: December 8, 2017, 3:37 PM IST
'कृषि क्षेत्र के युवा अपनी सोच को उद्यम के रूप में विकसित कर सकते हैं'
राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने विधिवत दीप जला कर एग्रिवेशन - स्टार्टअप इंवेट की शुरुआत की
Manoj Kumar | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: December 8, 2017, 3:37 PM IST
कृषि से जुड़े युवाओं की नई सोच को तकनीक से जोड़ कर उन्हें किस तरह से रोजगार परक बनाया जाए इसे लेकर आज शुक्रवार को बिरसा कृषि विश्वविद्यालय में एग्रिवेशन - स्टार्टअप इंवेट की शुरुआत की गई. इस कार्यक्रम में विभिन्न जगहों से आए तकनीकी विशेषज्ञ और सफल उद्यमी विश्वविद्यालय के छात्र छात्राओं को टिप्स देंगे ताकि वे अपनी सोच को एक आकार दे कर विकास की नई गाथा लिखें. राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने विधिवत दीप जला कर इस कार्यक्रम की शुरुआत करते हुए बिरसा कृषि विश्वविद्यालय के छात्रों को संबोधित किया.

राज्यपाल ने कहा कि हमारा देश युवाओं का देश है. आज पूरे विश्व की नजर हमारी इस सम्पदा पर है कि ये किस प्रकार उनके काम आ सकते हैं. ऐसे में स्टार्टअप कार्यक्रम से जुड़ कर कृषि क्षेत्र के युवा अपनी सोच को एक उद्यम के रूप में विकसित कर सकते हैं. विश्वविद्यालय के कुलपति ने भी इस अनूठे प्रयोग को छात्रों के लिए लाभकारी बताया.

कृषि के छात्रों को स्टार्टअप से जोड़ने की इस अनूठी पहल में जैप आईटी सहयोग कर रहा है. जैप आईटी के सीईओ की माने तो तकनीक के इस दौर में आईटी कृषि उत्पादों को बढ़ाने के साथ- साथ एक मार्केट भी प्रदान करेगा जहां युवा अपनी सोच को एक बड़ा फलक दे सकते हैं. विश्वविद्यालय के छात्राओं ने भी इस कार्यक्रम की सराहना की और कहा कि कैरियर निर्माण में यह कार्यक्रम एक मील का पत्थर साबित होगा.

मालूम हो कि भारत सरकार ने युवाओं की नई सोच और ऊर्जा के माध्यम से भारत के विकास की एक नई कहानी लिखने के लिए स्टार्टअप कार्यक्रम की शुरुआत की है. निश्चित तौर पर कृषि प्रधान हमारे देश और राज्य में इस तरह के प्रयोग से युवाओं को एक बड़ा मौका मिलेगा, इससे इंकार नहीं किया जा सकता है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर