झारखंड कांग्रेस के झगड़े को सुलझाने के लिए दिल्ली में बैठक, अजय कुमार को मिली राहत

पूर्व सांसद कामेश्वर बैठा ने बताया कि पार्टी आलाकमान ने निर्देशित किया है कि अजय कुमार के नेतृत्व में ही विधानसभा के चुनाव में काम करना है.

Amitesh | News18Hindi
Updated: August 3, 2019, 9:16 PM IST
झारखंड कांग्रेस के झगड़े को सुलझाने के लिए दिल्ली में बैठक, अजय कुमार को मिली राहत
सूत्रों के मुताबिक, इन नेताओं ने प्रदेश अध्यक्ष पद से अजय कुमार को हटाने की अपनी बात के सी वेणुगोपाल औऱ आरपीएन सिंह के सामने भी रखी. (File Photo)
Amitesh | News18Hindi
Updated: August 3, 2019, 9:16 PM IST
झारखंड कांग्रेस के झगड़े को सुलझाने की कवायद के तहत प्रदेश के सभी बड़े नेताओं को दिल्ली तलब किया गया. शनिवार को कांग्रेस मुख्यालय में हुई इस बैठक के बाद पार्टी के प्रदेश प्रभारी आरपीएन सिंह ने साफ कर दिया कि अनुशासनहीनता किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जाएगी. फिलहाल प्रदेश अध्यक्ष को हटाने को लेकर कोई फैसला नहीं हो सका है. लेकिन, सूत्रों के मुताबिक अजय कुमार को फिलहाल राहत मिल गई है.

झारखंड के सभी नेताओं की मौजूदगी में पार्टी के संगठन महासचिव के सी वेणुगोपाल ने सख्त हिदायत देते हुए कहा कि चाहे वो नेता कितना ही बड़ा क्यों न हो, पार्टी लाइन के खिलाफ अगर बयान देगा तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

सुरेंद्र सिंह और राकेश सिन्हा पार्टी से 6 साल के लिए निलंबित
दरअसल, इस बयान के दो मायने निकाले जा रहे हैं, पहला कि प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार के खिलाफ सभी गुटों की तरफ से किए जा रहे लगातार हमले को लेकर आलाकमान के तेवर सख्त है. दूसरी तरफ, प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार और उनके समर्थकों की तरफ से भी पिछले दिनों जो कुछ भी कहा गया उसको लेकर भी सवाल खड़े हो रहे थे. अजय कुमार ने दो दिन पहले रांची में बुलाई गई कांग्रेस की बैठक में विरोधी गुट पर हमला बोलते हुए साफ कर दिया कि पार्टी किसी के बाप की नहीं है. अजय कुमार ने सुबोधकांत सहाय के दो करीबी नेताओं सुरेंद्र सिंह और राकेश सिन्हा को पार्टी से 6 साल के लिए निलंबित भी कर दिया.

अजय कुमार की कार्यशैली को लेकर नेताओं ने उठाए सवाल
अजय कुमार की कार्यशैली को लेकर भी उन सभी नेताओं ने सवाल उठाए हैं, जो अबतक उनके खिलाफ मोर्चा खोले हुए थे. सूत्रों के मुताबिक, इन नेताओं ने प्रदेश अध्यक्ष पद से अजय कुमार को हटाने की अपनी बात के सी वेणुगोपाल औऱ आरपीएन सिंह के सामने भी रखी. लेकिन, 9 अगस्त को विश्व आदिवासी दिवस और 20 अगस्त को पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी की 75 वीं जयंती के मौके पर कार्यक्रम है, जिसे कांग्रेस देश भर में व्यापक स्तर पर मनाने की तैयारी कर रही है. इससे पहले झारखंड में प्रदेश नेतृत्व में किसी भी तरह की बदलाव की संभावना कम दिख रही है.

पूर्व सांसद कामेश्वर बैठा ने बताया कि पार्टी आलाकमान ने निर्देशित किया है कि अजय कुमार के नेतृत्व में ही विधानसभा के चुनाव में काम करना है.
Loading...

फिलहाल, अभी प्रदेश अध्यक्ष पद के मुद्दे पर कोई अंतिम फैसला तो नहीं हो सका है. लेकिन, अजय कुमार अगर बरकरार रहते हैं तो पार्टी के दूसरे वरिष्ठ और असंतुष्ट खेमे के नेताओं को चुनाव कैंपेन कमिटि, चुनाव मैनेजमेंट कमिटी और स्क्रीनिंग कमिटी में महत्वपूर्ण जिम्मेदारी देकर संतुष्ट करने की कोशिश की जा सकती है.

ये भी पढ़ें-

5 किमी में छिपा है उन्नाव रेप पीड़िता के एक्सीडेंट का सच!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 3, 2019, 9:16 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...