Home /News /jharkhand /

झारखंड: सबसे कम उम्र की विधायक बनीं अंबा प्रसाद, बोलीं- UPSC नहीं पास करने का रहेगा मलाल

झारखंड: सबसे कम उम्र की विधायक बनीं अंबा प्रसाद, बोलीं- UPSC नहीं पास करने का रहेगा मलाल

अंबा प्रसाद झारखंड चुनाव 2019 में सबसे कम उम्र की विधायक बनने का इतिहास भी रचा है.

अंबा प्रसाद झारखंड चुनाव 2019 में सबसे कम उम्र की विधायक बनने का इतिहास भी रचा है.

अंबा प्रसाद (Amba Prasad) ने झारखंड के बड़कागांव विधानसभा सीट से अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी आजसू पार्टी के प्रत्याशी रोशनलाल चौधरी को हरा कर जीत दर्ज की.

    रांची. संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) परीक्षा की तैयारी बीच में ही छोड़कर राजनीति में कदम रखने और हालिया झारखंड विधानसभा चुनाव (Jharkhand Assembly Election) में कांग्रेस (Congress) के टिकट पर सबसे कम उम्र की विधायक बनने वाली अंबा प्रसाद (Amba Prasad) ने  को कहा कि सिविल सेवा परीक्षा उत्तीर्ण करने का सपना अधूरा रहने का उन्हें हमेशा मलाल रहेगा.

    बड़कागांव विधानसभा क्षेत्र की विधायक बनीं हैं
    राजनीतिक परिवार से ताल्लुक रखने वाली 28 वर्षीय अंबा कुछ महीने पहले तक दिल्ली में रहकर यूपीएसी की तैयारी कर रही थीं, लेकिन माता, पिता और भाई पर मामला दर्ज होने के बाद उन्हें परिस्थितिवश राजनीति में कदम रखना पड़ा. उन्होंने झारखंड के बड़कागांव विधानसभा सीट से अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी आजसू पार्टी के प्रत्याशी रोशनलाल चौधरी को हरा कर जीत दर्ज की.

    एक बार प्रारंभिक परीक्षा पास की
    अंबा ने कहा, 'देश के लाखों युवाओं की तरह मेरा सपना भी यूपीएससी परीक्षा पास कर अधिकारी बनने का था. इसी वजह से मैंने दिल्ली में रहकर तैयारी की और एक बार प्रारंभिक परीक्षा पास भी की. हालात ऐसे बन गए कि मुझे राजनीति में कदम रखना पड़ा है और मैं यूपीएससी परीक्षा पास नहीं कर सकी. मेरा यह सपना अधूरा रह गया. इसका मलाल मुझे हमेशा रहेगा.'

    एलएलबी डिग्रीधारी हैं अंबा प्रसाद
    एलएलबी की डिग्री रखने वाली अंबा के मुताबिक उनके पिता योगेंद्र साहू 2009 में और मां निर्मला देवी ने 2014 में चुनाव जीता था, लेकिन कफन सत्याग्रह के दौरान माता-पिता को जेल भेज दिया गया. बाद में उनके भाई पर भी मुकदमा हो गया. इसके बाद दिल्ली में यूपीएससी की तैयारी में बीच में ही छोड़कर घर लौटना पड़ा. घर लौट कर अंबा प्रसाद ने हजारीबाग कोर्ट में ही वकालत शुरू कर दी और माता-पिता और भाई पर दर्ज मुकदमों को उन्होंने देखना शुरू कर दिया.

    कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को अपने राजनीतिक आदर्श के तौर पर देखने वाली अंबा कहती हैं, 'चाहे शहर हो या गांव, हर जगह युवा परेशान हैं. हमारी लड़ाई तो जल, जंगल और जमीन की है. इसी बुनियाद पर झारखंड की जनता ने हमें आशीर्वाद दिया है. हमें आशा है कि नई सरकार राज्य की जनता की अकांक्षाओं को पूरा करेगी.'

    ये भी पढ़ें-

    28 साल संघर्ष में कटी जिंदगी, राहुल गांधी ने दिया टिकट और बन गईं MLA

    शपथग्रहण से पहले हेमंत सोरेन ने लालू यादव का लिया आशीर्वाद

    Tags: Barkagaon Assembly Result S27a022, Congress, Jharkhand Lok Sabha Elections 2019, Rahul gandhi, UPSC

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर