सरना कोड को लेकर आर्च बिशप ने सीएम हेमंत को लिखा पत्र, केन्द्र से अनुशंसा करने का आग्रह

आर्च बिशप फेलिक्स टोप्पो ने सरना कोड को लेकर आदिवासियों की मांग को जायज ठहराया है. और सीएम  हेमंत को पत्र लिखा है. (फाइल फोटो)
आर्च बिशप फेलिक्स टोप्पो ने सरना कोड को लेकर आदिवासियों की मांग को जायज ठहराया है. और सीएम हेमंत को पत्र लिखा है. (फाइल फोटो)

आर्च बिशप फेलिक्स टोप्पो ने सीएम हेमंत सोरेन (Hemant Soren) को पत्र लिखकर 2021 के जनगणना में सरना कोड (Sarna Code) को शामिल कराने का आग्रह किया है. इसके लिए विधानसभा से प्रस्ताव पारित कराकर केन्द्र सरकार से अनुशंसा करने की मांग की गई है.

  • Share this:
रांची. जनगणना में सरना कोड (Sarna Code) को शामिल करने की मांग झारखंड में काफी समय से हो रही है. सरना आदिवासी समुदाय (Tribal Society) के धर्म का नाम है, जिसमें प्रकृति की उपासना की जाती है. आदिवासी समाज के बाद अब सरना कोड का क्रिश्चियन कम्युनिटी ने भी समर्थन कर इस मांग को तेज कर दिया है. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Hemant Soren) को आर्च बिशप फेलिक्स टोप्पो ने पत्र लिखकर 2021 के जनगणना में सरना कोड को शामिल कराने के उद्देश्य से विधानसभा से प्रस्ताव पारित कराकर केन्द्र सरकार से अनुशंसा करने का आग्रह किया है.

आदिवासियों के अधिकार नहीं हो सकता है हनन 

सरना धर्म को प्राचीन धर्म बताते हुए आर्च विशप ने कहा है कि आदिवासियों के अधिकारों का हनन नहीं हो सकता. इसमें क्रिश्चियन समाज उनके साथ है. आदिवासियों का धर्म परिवर्तन अभी भी कुछ क्रिश्चियन सोसायटी द्वारा होने को स्वीकारते हुए आर्च विशप ने कहा कि धार्मिक स्वतंत्रता सबों को है. पहले जमींदारों द्वारा आदिवासियों की जमीन लूटी जाती थी. जिसकी रक्षा करने में क्रिश्चियन सोसायटी साथ देता था. जिससे बड़ी संख्या में आदिवासियों ने धर्म परिवर्तन किया.



1951 से पहले सरना कोड था
उन्होंने खुद अपना धर्म परिवर्तन कर क्रिश्चिन बनने की बात स्वीकारते हुए कहा कि आदिवासियत हमारी थी और रहेगी. सरना कोड का समर्थन करने के पीछे आर्च विशप का तर्क यह है कि 1951 से पहले सरना कोड था मगर बाद में इसे जनगणना से हटा दिया गया, ऐसे में जब हिन्दू, मुस्लिम, सिख, ईसाई आदि धर्म का उल्लेख हो सकता है तो सरना का क्यों नहीं. जाहिर तौर पर सरना को यदि जनगणना में शामिल कर लिया जाता है तो एक अलग धर्म के रूप में सरना को सरकारी मान्यता मिल जायेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज