सीएम रघुवर दास ने किया आयुष निदेशालय का उद्घाटन

झारखंड में आरसीएच में नवनिर्मित आयुष निदेशालय का मुख्यमंत्री रघुवर दास ने उद्घाटन किया. कार्यक्रम के दौरान सीएम ने सूबे में गंभीर रूप से बीमार होने वाले लोगों के इलाज के लिए नई योजना का एलान किया है.
झारखंड में आरसीएच में नवनिर्मित आयुष निदेशालय का मुख्यमंत्री रघुवर दास ने उद्घाटन किया. कार्यक्रम के दौरान सीएम ने सूबे में गंभीर रूप से बीमार होने वाले लोगों के इलाज के लिए नई योजना का एलान किया है.

झारखंड में आरसीएच में नवनिर्मित आयुष निदेशालय का मुख्यमंत्री रघुवर दास ने उद्घाटन किया. कार्यक्रम के दौरान सीएम ने सूबे में गंभीर रूप से बीमार होने वाले लोगों के इलाज के लिए नई योजना का एलान किया है.

  • Share this:
झारखंड में आरसीएच में नवनिर्मित आयुष निदेशालय का मुख्यमंत्री रघुवर दास ने उद्घाटन किया. कार्यक्रम के दौरान सीएम ने सूबे में गंभीर रूप से बीमार होने वाले लोगों के इलाज के लिए नई योजना का ऐलान किया है.

वहीं मलरिया से मुकाबला करने के लिए 16 सौ 16 पीएमडब्ल्यू कर्मियों को नियुक्ति पत्र बांटा गया.राज्य में स्वास्थ्य सेवाएं पटरी पर आए इसके लिए कई घोषणाएं भी हुई.

गंभीर बीमार से जूझ रहे लोगों के लिए राहत की बात है. राज्य सरकार दो लाख का बीमा करेगी, जिसका प्रीमियम भी सरकार वहन करेगी. आरसीएच में आयोजित ऐसी कई योजनाओं का एलान सीएम ने किया.



मौका था नवनिर्मित आयुष निदेशालय भवन के उद्घाटन का. इस मौके पर कई विषेशज्ञ चिकित्सकों और 16 सौ 16 पीएमडब्ल्यू कर्मियों को नियुक्ति पत्र बांटा गया.
वहीं ड्रग्स लाइसेंस अब ऑनलाइन मिले इसकी भी शुरुआत कर दी गई, ताकि भ्रष्टाचार पर लगाम लग सके. सूबे में बगैर एम्बुलेंस के लोग दम ना तोड़ें इसके लिए 79 एम्बुलेंस को सीएम ने हरी झंडी दिखाई. किशोरियों को अब सेनेटरी नैपकिन मुफ्त मिलेगी. कार्यक्रम के दौरान सीएम को इन सारी योजनाओं के लिए स्वास्थ्य मंत्री ने धन्यवाद दिया.

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने चिकित्सकों का पैसे के पीछ न भागने की नसीहत भी दी. साथ हीं हर प्राइवेट अस्पतालों को एक दिन गर्भवती महिलाओं का इलाज एक दिन मुफ्त करें, इसके लिए प्रेरित किया.

2017 तक झारखंड मलेरिया मुक्त हो इसके लिए टीम वर्क पर रघुवर दास ने जोर दिया. वहीं इन सबसे बीच सांसद रामटहर चौधरी ने रांची के सदर अस्पताल के नए भवन पर सवाल उठाते हुए कहा कि आजतक इसका चालू ना होना दुखद है. इसकी वजह से रिम्स में मरिजो की भीड़ लगी रहती है और गरिबों को सुविधाएं नहीं मिलती.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज