Home /News /jharkhand /

बी टेक छात्रा हत्याकांड : 15 दिन, 07 एजेंसियां, नतीजा 0

बी टेक छात्रा हत्याकांड : 15 दिन, 07 एजेंसियां, नतीजा 0

बीटेक छात्रा हत्या मामले में रांची पुलिस के हाथ अभी भी खाली हैं. मृत छात्रा के परिजन मजबूर होकर सीएम से मिल सीबीआई जांच की मांग की. सीएम ने भी उन्हें आश्वस्त कर दिया है कि कुछ दिनों मे ये खुलासा नहीं होता है तो वो सीबीआई जांच की अनुशंसा कर देंगे.

बीटेक छात्रा हत्या मामले में रांची पुलिस के हाथ अभी भी खाली हैं. मृत छात्रा के परिजन मजबूर होकर सीएम से मिल सीबीआई जांच की मांग की. सीएम ने भी उन्हें आश्वस्त कर दिया है कि कुछ दिनों मे ये खुलासा नहीं होता है तो वो सीबीआई जांच की अनुशंसा कर देंगे.

बीटेक छात्रा हत्या मामले में रांची पुलिस के हाथ अभी भी खाली हैं. मृत छात्रा के परिजन मजबूर होकर सीएम से मिल सीबीआई जांच की मांग की. सीएम ने भी उन्हें आश्वस्त कर दिया है कि कुछ दिनों मे ये खुलासा नहीं होता है तो वो सीबीआई जांच की अनुशंसा कर देंगे.

अधिक पढ़ें ...
बीटेक छात्रा हत्या मामले में रांची पुलिस के हाथ अभी भी खाली हैं. मृत छात्रा के परिजन मजबूर होकर सीएम से मिल सीबीआई जांच की मांग की. सीएम ने भी उन्हें आश्वस्त कर दिया है कि कुछ दिनों मे ये खुलासा नहीं होता है तो वो सीबीआई जांच की अनुशंसा कर देंगे. बड़ा सवाल यह है कि क्या अब सरकार का भी अपनी पुलिस से भरोसा टूट रहा है.

 सरकार का भी नहीं एतबार

रांची की इंजीनियरिंग छात्रा के हत्या के पंद्रह दिन बीत जाने के बाद भी रांची पुलिस का अनुसंधान एक कदम आगे नहीं बढ़ पाया है. इसमे घटना की जांच में राज्य सरकार की सात एजेंसियां एक साथ काम कर रही हैं. जिला पुलिस, एसआईटी, सीआईडी, फॉरेंसिक, विशेष शाखा मुख्य हैं.थक हार कर परिजनों ने गुरुवार को सीएम से मिलकर मामले की सीबीआई जांच की मांग की है. मृत छात्रा के पिता ने कहा कि सीएम ने कुछ दिनों की मोहलत मांगी है. अगर 31 दिसंबर तक कुछ खुलासा नहीं हुआ तो सीबीआई जांच की अनुशंसा हो सकती है. अगर ऐसा हुआ तो रांची पुलिस की तो धज्जियां उड़ जाएगी. लोगों का भरोसा कानून व्यवस्था से उठ जाएगा. हालांकि पुलिस प्रवक्ता आरके मल्लिक की मानें तो वे खुलासा के करीब हैं.

पुलिसिया जांच के खास बिंदू

  • इस घटना के बाद रांची पुलिस की एसआईटी ने दर्जन भर लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की.

  • फॉरेंसिक की टीम ने अलग अलग जांच के लिए घटना स्थल से सैंपल लिया .

  • डीएनए टेस्ट का सैंपल कोलकाता भेजा गया जिसकी रिपोर्ट आनी बांकी है.

  • पोस्टमार्टम रिपोर्ट आया पर पुलिस ने खुलासा नहीं किया.

  • मृत छात्रा के फेसबुक व्हाट्सऐप को खंघाला गया. सोशल साईट से जुड़े दोस्तों से भी पूछताछ हुई.

  • एसाईटी की टीम ने रांची के अलावा रामगढ़, सिल्ली व हजारीबाग में घटना का कनेक्शन खोजने की कोशिश की.

  • डीजीपी ने घटनास्थल को टेंपरेरी आउटपोस्ट बना दिया ताकि कुछ और साक्ष्य जुटाए जा सके.


 

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर