• Home
  • »
  • News
  • »
  • jharkhand
  • »
  • अपने गृह क्षेत्र में भी ट्रांसफर ले सकेंगे झारखंड के टीचर्स! कमेटी ने शिक्षा सचिव को सौंपी रिपोर्ट

अपने गृह क्षेत्र में भी ट्रांसफर ले सकेंगे झारखंड के टीचर्स! कमेटी ने शिक्षा सचिव को सौंपी रिपोर्ट

Jharkhand News: झारखंड सरकार टीचर ट्रांसफर पॉलिसी को संशोधित करने की तैयारी में है. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

Jharkhand News: झारखंड सरकार टीचर ट्रांसफर पॉलिसी को संशोधित करने की तैयारी में है. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

Jharkhand Teacher Transfer News: शिक्षा निदेशक की अध्‍यक्षता में गठित कमेटी ने शिक्षा सचिव को अपनी रिपोर्ट सौंप दी है. अब उनकी सहमति से संशोधित नियमावली तैयार की जाएगी, जिसे स्‍वीकृति के लिए शिक्षा मंत्री के पास भेजा जाएगा. आखिरकार मंजूरी के लिए कैबिनेट के समक्ष रखा जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    रांची. त्‍योहारी मौसम आने के साथ ही झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार ने शायद प्रदेश के शिक्षकों को तोहफा देने का मन बना लिया हैकश. अगर सबकुछ ठीक-ठाक रहा तो प्‍लस टू तक के शिक्षक अपने गृह क्षेत्र में भी अपनी सेवाएं दे सकते हैं. टीचर ट्रांसफर को लेकर नियमावली में संशोधन के प्रस्‍ताव का मसौदा तैयार कर लिया गया है. इस बाबत माध्‍यमिक शिक्षा निदेशक की अध्‍यक्षता में गठित कमेटी ने अपनी रिपोर्ट शिक्षा सचिव को सौंप दी है. अब स्‍कूली शिक्षा एवं सहकारिता विभाग के सचिव की सहमति के बाद संशोधित नियमावली तैयार की जाएगी. बता दें कि वर्ष 2019 की नियमावली समाप्त कर साल 1994 की नियमावली के प्रावधान को लागू करने का सुझाव पारित हो गया है, जिसे शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो के पास भेज दिया गया है.

    संशोधित नियमावली को शिक्षा मंत्री की सहमति के लिए भेजा जाएगा. इसके बाद इसे विधि और कार्मिक विभाग को सौंपा जाएगा. इन विभागों की सहमति के बाद नियमावली को कैबिनेट की स्वीकृति के लिए भेजा जाएगा. नियमावली संशोधन के लिए आवश्यक प्रक्रिया जल्द पूरी की जाएगी. नियामवली संशोधन में अंतर जिला स्थानांतरण को लेकर फिर से वर्ष 1994 की नियमावली के प्रावधानों को लागू करने का सुझाव दिया गया है.

    Big News: रांची के JSCA स्‍टेडियम में हो सकता है भारत Vs न्‍यूजीलैंड के बीच T20 मैच, आज BCCI की अहम बैठक 

    संशोधित नियमावली के तहत वैसे शिक्षक जो झारखंड के नहीं हैं, उन्हें भी अपनी इच्छा के अनुरूप जिला चयन का अवसर दिया जा सकता है. इसके तहत राज्य में शिक्षकों को पांच साल की सेवा पूरी होने के बाद पूरे सेवा काल में अंतर जिला स्थानांतरण का अवसर मिलेगा. इसके तहत शिक्षक अपने गृह जिला का भी चयन कर सकते हैं. महिला शिक्षकों के स्थानांतरण के लिए वर्ष की बाध्यता नहीं होगी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज