Home /News /jharkhand /

झारखंड में 1000 एकड़ में औद्योगिक क्लस्टर बनेगा, सबसे बड़ा इंडस्ट्रियल सेक्टर विकसित करने की तैयारी

झारखंड में 1000 एकड़ में औद्योगिक क्लस्टर बनेगा, सबसे बड़ा इंडस्ट्रियल सेक्टर विकसित करने की तैयारी

Jharkhand News: बोकारो में झारखंड का सबसे बड़ा इंडस्ट्रियल क्‍लस्‍टर बनाने की योजना है. (फाइल फोटो)

Jharkhand News: बोकारो में झारखंड का सबसे बड़ा इंडस्ट्रियल क्‍लस्‍टर बनाने की योजना है. (फाइल फोटो)

Industrial Cluster in Jharkhand: झारखंड के उद्योग विभाग ने केंद्र को  बोकारो स्थित भारतीय इस्‍पात प्राधिकरण (SAIL) की खाली पड़ी जमीन पर इंडस्ट्रियल क्‍लस्‍टर विकसित करने का प्रस्‍ताव दिया है. केंद्र ने इस बाबत संबंधित पक्षों के साथ विचार-विमर्श करने की सलाह दी है.

अधिक पढ़ें ...

    रांची. अगर सब कुछ ठीक-ठाक रहा तो झारखंड में प्रदेश का सबसे बड़ा औद्योगिक क्षेत्र विकसित किया जाएगा. इस इंडस्ट्रियल क्‍लस्‍टर को बोकारो स्थित भारतीय इस्‍पात प्राधिकरण की खाली पड़ी 1000 एकड़ जमीन पर विकसित करने की योजना है. कोलकाता-अमृतसर इंडस्ट्रियल कॉरिडोर डेवलपमेंट प्‍लानिंग के तहत इसको लेकर एक प्रस्‍ताव तैयार किया गया है.

    रिपोर्ट के अनुसार, उद्योग विभाग ने डिपार्टमेंट ऑफ प्रमोशन ऑफ इंडस्‍ट्री एंड इंटरनल ट्रेड से बोकारो के सेल परिसर में खाली पड़ी जमीन पर औद्योगिक क्षेत्र बनाने का प्रस्‍ताव दिया है. ऐसे में यदि यह प्रस्‍ताव स्‍वीकृत हो जाता है, तो झारखंड में देश का सबसे बड़ा इंडस्ट्रियल क्‍लस्‍टर विकसित करने का रास्‍ता खुल जाएगा.

    बैठक में तय होगा औद्योगिक परिक्षेत्र का स्वरूप

    झारखंड का उद्योग विभाग इस बाबत जल्द ही बोकारो स्टील प्‍लांट के अधिकारियों के साथ बैठक करेगा, जिसमें इंडस्ट्रियल क्लस्टर बनाने पर औपचारिक सहमति बनाने की कोशिश की जाएगी. साथ ही औद्योगिक क्षेत्र के स्‍वरूप को भी तय किया जाएगा. बोकारो सेल परिसर 3300 एकड़ में फैला है. इसमें एक बड़ा हिस्‍सा अभी भी खाली पड़ा है. खाली पड़े क्षेत्र में ही 1000 एकड़ जमीन चिन्हित की जाएगी. अगर यह क्लस्टर बना तो राज्य का सबसे बड़ा औद्योगिक क्षेत्र होगा.

    बुलेट ट्रेन के लिए झारखंड में बिछेगी नई रेल लाइन, प्रभावित होने वाले गांव चिह्नित

    7 राज्यों में बनना है इंडस्ट्रियल कॉरिडोर

    बता दें कि वर्ष 2017 में बरही में कोलकाता-अमृतसर कॉरिडोर का क्लस्टर बनाने पर सहमति बनी थी. इंडस्ट्रियल कॉरिडोर निर्माण के लिए भूमि का निरीक्षण भी किया गया था. सेंट्रल इंडस्ट्रियल कॉरिडोर प्लान के तहत बरही के देवचंदा समेत कजरा, केदारुत, डुमरडीह, कटिऔन, खैरोन और खोड़ाहार गांव मिलकर 2500 एकड़ जमीन में इंडस्ट्रियल कॉरिडोर बनाने की बात थी, लेकिन देवचंदा गांव के अधिकांश लोगों ने इसका विरोध किया था. केन्द्र सरकार के अनुसार अमृतसर से कोलकाता तक झारखंड समेत 7 राज्यों में इंडस्ट्रियल कॉरिडोर बनाया जाना है. इनमें बोकारो भी शामिल है. इंडस्ट्रियल कॉरिडोर में छोटे-बड़े इंटिग्रेटेड मैन्यूफैक्चरिंग क्लस्टर बनाए जाएंगे.

    Tags: Bokaro news, Jharkhand news, Ranchi news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर