Home /News /jharkhand /

झारखंड: कोरोना संकट में अभिभावकों को राहत! निजी स्कूलों में 3 माह तक फीस लेने लगी रोक

झारखंड: कोरोना संकट में अभिभावकों को राहत! निजी स्कूलों में 3 माह तक फीस लेने लगी रोक

शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने कहा कि सब कुछ ठीक रहा तो 15 जून से सरकारी स्कूल खोल दिये जाएंगे (फाइल फोटो)

शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने कहा कि सब कुछ ठीक रहा तो 15 जून से सरकारी स्कूल खोल दिये जाएंगे (फाइल फोटो)

शिक्षा मंत्री ने कहा कि लॉकडाउन (Lockdown) के कारण लोगों की आर्थिक स्थिति खराब हो गई है. ऐसे में कई अभिभावक फिलहाल फीस (Fees) देने में सक्षम नहीं हैं. इसलिए निजी स्कूल मार्च से मई तक की फीस अगले आदेश तक ना लें.

    रांची. राज्य सरकार ने अभिभावकों को राहत देते हुए निजी स्कूलों (Private Schools) में तीन महीने तक फीस (Fees) लेने पर रोक लगा दी है. शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने इस संबंध में विभाग के प्रस्ताव पर मंजूरी दे दी. प्रस्ताव के मुताबिक निजी स्कूल तीन महीने तक अभिभावकों (Parents) को फीस के लिए तंग नहीं करेंगे. साथ ही बच्चों को किसी प्रकार की सुविधा से वंचित भी नहीं करेंगे. शिक्षा मंत्री ने इस बाबत एक कमिटी गठित करने का निर्देश दिया है.

    शिक्षा मंत्री ने कहा कि लॉकडाउन के कारण लोगों की आर्थिक स्थिति खराब हो गई है. ऐसे में कई अभिभावक फिलहाल फीस देने में सक्षम नहीं हैं. इसलिए निजी स्कूल मार्च से मई तक की फीस अगले आदेश तक नहीं लें.

    गर्मी की छुट्टी में भी बच्चों को मिलेगा मिड डे मील 

    उधर, मंगलवार को केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्री रमेश पोखरियाल ने झारखंड सहित अन्य राज्यों के साथ समीक्षा बैठक की. इस बैठक में बोकारो से शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो और रांची से शिक्षा विभाग के आलाधिकारी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जुड़े. इस दौरान गर्मी की छुट्टी में भी बच्चों को मिड डे मील का अनाज और कुकिंग कॉस्ट देने का निर्देश दिया गया. इसके अलावा केंद्रीय मंत्री ने एक महीने का अतिरिक्त राशन देने की भी घोषणा की. सरकारी और निजी स्कूलों के छात्रों के लिए किताब की दुकानें खुलवाने का निर्देश दिया.

    15 जून से खुलेंगे सरकारी स्कूल 

    शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने केन्द्रीय मंत्री को बताया कि अगर स्थिति अनुकूल रही, तो 15 जून से सूबे में सरकारी स्कूलें खोली जा सकती हैं. स्कूलों के समय में एक घंटे की वृद्धि की योजना है. सुबह 9 से शाम 4 बजे तक स्कूल चलाने की तैयारी है. शनिवार को भी स्कूलों में फुल डे पढ़ाई होगी. शिक्षा मंत्री ने केन्द्र से ग्रामीण क्षेत्रों में केंद्रीय विद्यालय खोलने और 4500 अप्रशिक्षित शिक्षकों पर विचार करने का आग्रह किया. इसके अलावा केंद्र सरकार के द्वारा आवंटित राशि और कोरोना पीरियड में निजी स्कूलों के द्वारा फीस माफी पर भी केंद्र सरकार से फैसले लेने का आग्रह किया गया.

    इनपुट- भुवन किशोर झा

    ये भी पढ़ें- कोरोना को लेकर कार्रवाई से स्वास्थ्य मंत्री संतुष्ट नहीं, रिम्स निदेशक को हटाने की सिफारिश

    Tags: Jharkhand news, Lockdown, Ranchi news

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर