Assembly Banner 2021

झारखंड: अब सभी बड़े मंदिरों में श्रद्धालु ऑनलाइन कर सकेंगे दर्शन और पूजा अर्चना

झारखंड के सभी मंदिरों, धर्मशाला, मठ, ट्रस्ट को एक प्लेटफॉर्म पर लाने के लिए वेबसाइट डेवलप की जा रही है.

झारखंड के सभी मंदिरों, धर्मशाला, मठ, ट्रस्ट को एक प्लेटफॉर्म पर लाने के लिए वेबसाइट डेवलप की जा रही है.

झारखंड के सभी मंदिरों को झारखंड राज्य हिंदू धार्मिक न्यास परिषद में रजिस्ट्रेशन कराने की कवायद शुरू कर दी है. श्रद्धालुओं के सहूलियत के लिए ऑनलाइन दर्शन और पूजा की सुविधा उपलब्ध होगी.

  • Share this:
रांची. राज्य के प्रमुख मंदिरों में श्रद्धालुओं के सहूलियत के लिए ऑनलाइन दर्शन और पूजा की सुविधा उपलब्ध होगी. झारखंड राज्य हिंदू धार्मिक न्यास पर्षद इसकी तैयारी में जुट गया है. इसके लिए सभी मंदिरों को न्यास परिषद में रजिस्ट्रेशन कराना होगा. राज्य के 678 मंदिरों को इस सूची में शामिल किया गया है लेकिन अभी तक 94 मंदिरों ने ही रजिस्ट्रेशन कराया है. शेष को रजिस्ट्रेशन कराने के लिए नोटिस भेजा गया है. विधि विभाग के प्रधान सचिव सह न्यास पर्षद के प्रभारी प्रशासक संजय प्रसाद ने इसकी जानकारी दी.

न्यास पर्षद के प्रभारी प्रशासक संजय प्रसाद कहा कि राज्य के सभी मंदिरों, धर्मशाला, मठ, ट्रस्ट को एक प्लेटफॉर्म पर लाने के लिए इस वेबसाइट का निर्माण किया जा रहा है. इसमें सभी मंदिरों की जानकारियां उपलब्ध रहेंगी. रजिस्टर्ड होने पर मंदिरों को अपनी वार्षिक आय का लेखा-जोखा भी सार्वजनिक करना होगा. साथ ही झारखंड राज्य हिंदू धार्मिक न्यास पर्षद को आमदनी का पांच फीसदी देना होगा.

न्यास परिषद मंदिरों के पंडित, पंडा की समस्याओं को दूर करेगा. साथ ही, प्रशासन की व्यवस्था पर भी निर्णय लेगा. रांची के पहाड़ी मंदिर, इटखोरी के भद्र काली मंदिर और लातेहार के नगर देवी मंदिर का अभी तक परिषद में पंजीयन नहीं हुआ है. सभी मंदिरों को अब परिषद में रजिस्ट्रेशन कराना होगा जिसका शुल्क पांच सौ रुपये है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज