बिहार चुनाव 2020: महागठबंधन से अलग होकर 7 सीटों पर JMM लड़ेगा चुनाव, कहा- RJD ने हमसे मक्कारी की

झारखंड मुक्ति मोर्चा ने आरजेडी पर राजनीतिक मक्कारी का आरोप लगाते हुए बिहार में महागठबंधन छोड़ने की घोषणा की  (फाइल फोटो)
झारखंड मुक्ति मोर्चा ने आरजेडी पर राजनीतिक मक्कारी का आरोप लगाते हुए बिहार में महागठबंधन छोड़ने की घोषणा की (फाइल फोटो)

झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) ने झारखंड की सीमावर्ती बिहार की सात विधानसभा सीटों (Bihar Assembly Election 2020) पर अकेले चुनाव लड़ने की घोषणा करते हुए कहा कि आगे दूसरे और तीसरे चरणों के लिए कुछ अन्य सीटों पर भी वो अपने उम्मीदवार उतार सकती है

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 6, 2020, 11:45 PM IST
  • Share this:
रांची. बिहार में महागठबंधन (Grand Alliance) को एक और झटका लगा है. झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) ने बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election 2020) के लिए राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के नेतृत्व में बने महागठबंधन से अलग होने की घोषणा की है. पार्टी ने आरोप लगाया कि आरजेडी ने उनके साथ राजनीतिक मक्कारी की है लिहाजा वो अकेले ही चुनाव लड़ेगी. जेएमएम ने झारखंड की सीमावर्ती बिहार की सात विधानसभा सीटों पर अकेले चुनाव लड़ने की घोषणा करते हुए कहा कि आगे दूसरे और तीसरे चरणों के लिए कुछ अन्य सीटों पर भी वो अपने उम्मीदवार उतार सकती है.

जेएमएम के केंद्रीय महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने मंगलवार को कहा कि झारखंड मुक्ति मोर्चा ने महागठबंधन का नेतृत्व कर रहे आरजेडी की राजनीतिक मक्कारी के चलते आगामी बिहार विधानसभा चुनाव में अकेले ही चुनाव लड़ने का फैसला किया है. उन्होंने आरोप लगाया कि आरजेडी द्वारा हमारे साथ जो राजनीतिक मक्कारी की गई है उसके खिलाफ हम बोलने को मजबूर हैं. भट्टाचार्य ने कहा हम बिहार चुनाव लड़ेंगे तो हमें किसी की राजनीतिक खैरात नहीं चाहिए. हम अपने संगठन के बल पर चुनाव लड़ने के लिए सक्षम हैं. इसीलिए हमने निर्णय लिया है कि बिहार विधानसभा चुनाव में हम ताल ठोक कर लड़ेंगे. हम कम सीटों पर लड़ेंगे लेकिन मजबूती से लड़ेंगे.


पहले चरण में सीमावर्ती 7 सीटों पर चुनाव लड़ेगी JMM



उन्होंने कहा कि फिलहाल जेएमएम ने पहले चरण में सात सीटों पर चुनाव लड़ने का फैसला किया है जो आगे बढ़ भी सकती हैं. फिलहाल पार्टी ने झाझा, चकई, कटोरिया, धमदाहा, मनिहारी, पीरपैंती और नाथनगर सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारने का फैसला किया है. भट्टाचार्य ने इशारों-इशारों में तेजस्वी यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि आरजेडी में नए-नए नेता बने हैं, वो तो सबकुछ भूल गए हैं. बिहार में महागठबंधन से अलग होने के जेएमएम के फैसले का झारखंड में असर पूछे जाने पर उन्होंने स्पष्ट कहा कि फिलहाल वहां सत्ताधारी गठबंधन पर इसका कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा. क्योंकि हम जिसके घर में दिया जलाते हैं उसे बुझाने में विश्वास नहीं रखते.

बिहार विधानसभा के लिए तीन चरणों में चुनाव होना है जिसमें पहले चरण के लिए 28 अक्टूबर, दूसरे चरण के लिए तीन नवंबर और तीसरे चरण के लिए सात नवंबर को मतदान होना है. वहीं चुनाव के नतीजे 10 नवंबर को आएंगे. 243 सदस्यों वाले बिहार विधानसभा के लिए पहले चरण की 71 सीटों के लिए नामांकन प्रक्रिया एक अक्टूबर से जारी है. (भाषा से इनपुट)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज