Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    बिहार चुनाव: क्या JMM- RJD के बीच की अनबन का झारखंड पर भी होगा असर?

    जेएमएम (JMM) अब अकेले ही बिहार चुनाव में अपना दमखम दिखाता नज़र आएगा.
    जेएमएम (JMM) अब अकेले ही बिहार चुनाव में अपना दमखम दिखाता नज़र आएगा.

    Bihar Assembly Election 2020: जेएमएम महासचिव सुप्रीयो भट्टाचार्य का कहना है कि झारखंड में राजद को उसकी हैसियत से ज्यादा सीटें जेएमएम ने गठबंधन के तहत दी, लेकिन पार्टी ने इसे याद नहीं रखा.

    • Share this:
    रांची. बिहार चुनाव (Bihar Election) में जेएमएम एकला चलो की राह पर चलते हुए 7 प्रत्याशियों को बिहार चुनाव में उतारने की घोषणा की है. झाझा, चकई, कटोरिया, धमदाहा,मनिहारी,पीरपैंती और नाथ नगर से अपने प्रत्याशी को उतारने की बात करते हुए राजद पर आरोप लगाए, तो वहीं बीजेपी भी मौके की नाजाकत को देखते हुए चुटकी ली है. बिहार चुनाव की रणभेरी बज चुकी है और जो पार्टियां कल तक एक साथ रहकर चुनाव में विरोधी को मात देने की बात करते थे आज खुद ही उनके खिलाफ हो गए है. राजद से मनमुताबिक सीट शेयरिंग पर सहमति न बनने से जेएमएम (JMM) अब अकेले ही बिहार चुनाव में अपना दमखम दिखाता नजर आएगा.

    पार्टी महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने राजद के रहमो करम पर चुनाव ना लड़ने का फैसला लिया है और पार्टी ने राजद पर राजनीतिक मक्कारी करने का आरोप लगाते हुए कहा कि राजद के आज का नेतृत्व पुरानी चीजों को याद नहीं रखना चाहता, लेकिन झारखंड मुक्ति मोर्चा सम्मान के साथ समझौता नहीं कर सकता. यह आरोप झारखंड में बड़े भाई की भूमिका निभा रहे झारखंड मुक्ति मोर्चा ने कही जिसने बिहार चुनाव में राजद के साथ मिलकर बिहार की धरती पर दस्तक देने की ख्वाहिश रखी थी. जेएमएम के महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि भले ही कम सीटों पर हम चुनाव लड़ेंगे, लेकिन जितनी भी सीटों पर चुनाव लड़ेंगे उसमें जीत जरूर हासिल होगी.

    राजद के झारखंड प्रदेश कार्यालय को जेएमएम ने किया था रौशन



    जेएमएम महासचिव सुप्रीयो भट्टाचार्य ने कहा कि हम लालू प्रसाद यादव का सम्मान करते हैं और करते रहेंगे, लेकिन लालू प्रसाद यादव सामाजिक न्याय और राजनीतिक भागीदारी की बात करते रहे है पर बिहार चुनाव में ऐसा क्यों नहीं हुआ यह सवाल लाजमी है. वहीं उन्होंने कहा कि बिहार में मुकाबला बहूकोणीय है. हमारी जरूरत राजद को जरूर पड़ेगी. वहीं राजद पर बड़ा हमला करते हुए कहा कि झारखंड में राजद को उसकी हैसियत से ज्यादा सीटें जेएमएम ने गठबंधन के तहत दी. राजद के प्रदेश कार्यालय को रौशन करने का काम किया, जिसे राजद ने बिहार चुनाव में याद नहीं रखा. हालांकि पार्टि महासचिव ने कहा कि इसका असर झारखंड में नहीं पड़ेगा. यहां पार्टी गठबंधन को दिए अपने वचन को पूरा करेगी.
    ये भी पढ़ें: Bihar Assembly Election: जानें JDU और HAM पार्टी के खाते में आई कौन सी सीट, देखें लिस्ट

    बिजेपी ने भी मामले पर ली चुटकी

    वहीं मामले पर बिजेपी मीडिया प्रभारी शिवपूजन पाठक ने निशाना साधते हुए जेएमएम और राजद दोनों को निशाने पर लिया और कहा कि राजद सुप्रीमो ने ही झारखंड बनने को लेकर रोड़ा अटकाया था. बावजूद इसके जेएमएम आज उन्हीं के साथ है, जो बताता है कि झारखंड की मिट्टी से जेएमएम का जुड़ाव कितना है.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज