लाइव टीवी

केस वापस लेने के चलते हुई घटना, बीजेपी ने बुरुगुलीकेरा कांड पर सरकार पर साधा निशाना

News18 Jharkhand
Updated: January 22, 2020, 6:29 PM IST
केस वापस लेने के चलते हुई घटना, बीजेपी ने बुरुगुलीकेरा कांड पर सरकार पर साधा निशाना
बीजेपी नेता अरुण उरांव ने चाईबासा मामले पर पीड़ित परिवारों के लिए 10-10 लाख रुपये मुआवजे की मांग की है.

प्रदेश अनुसूचित जनजातीय मोर्चा के अध्यक्ष अरुण उरांव ने प्रेसवार्ता कर पीड़ित परिवारों के लिए 10-10 लाख रुपये मुआवजे की मांग की. साथ ही दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई भी मांग की है.

  • Share this:
रांची. पश्चिम सिंहभूम में पत्थलगड़ी (Pathalgadi) की आड़ में सात ग्रामीणों की हत्या (Murder) पर बीजेपी (BJP) ने हेमंत सरकार (Hemant Government) को निशाने पर लिया है. पार्टी का आरोप है कि पत्थलगड़ी समर्थकों पर दर्ज देशद्रोह का केस वापस लेने के चलते ये हत्या हुई है. दरअसल हेमंत सोरेन सरकार ने अपनी पहली कैबिनेट की बैठक में पत्थलगड़ी समर्थकों पर दर्ज देशद्रोह का केस वापस लेने का आदेश दिया था.

बीजेपी अनुसूची जनजातीय मोर्चा के उपाध्यक्ष और प्रदेश अनुसूचित जनजातीय मोर्चा के अध्यक्ष अरुण उरांव ने प्रेसवार्ता कर पीड़ित परिवारों के लिए 10-10 लाख रुपये मुआवजे की मांग की. साथ ही दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई भी मांग की है. उन्होंने कहा कि प्रदेश में गठबंधन की सरकार बनने के बाद यह सबसे बड़ी घटना है, जिससे पूरा प्रदेश सकते में है. आदिवासी और मूलवासी की हितैषी बनने वाली पार्टी के राज में ऐसी घटना बताती है कि प्रदेश की कानून व्यवस्था लचर हो गयी है. हेमंत सरकार ने जिस तरह से पत्थलगड़ी समर्थकों पर दर्ज मामले वापस लिए गए, उसी का नतीजा ये घटना है.

बीजेपी विधायक कोचे मुंडा ने कहा कि इस मामले में कानून के तहत दोषियों पर जल्द से जल्द कार्रवाई होनी चाहिए. बीजेपी नेता रामकुमार पाहन ने भी हेमंत सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार बनने के बाद भी अबतक मंत्रिमंडल का विस्तार न होना, हेमंत सरकार की जनता के प्रति उदासीनता को दर्शाती है. उन्होंने सरकार से नैतिकता के आधार पर दोषियों पर कड़ी कार्रवाई करने की मांग की.

रिपोर्ट- ओमप्रकाश

ये भी पढ़ें- ग्रामीणों की हत्या पर सीएम हेमंत सोरेन बोले- दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा, बुलाई उच्चस्तरीय बैठक

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 22, 2020, 6:24 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर