होम /न्यूज /झारखंड /अनोखी पहल: MP संजय सेठ ने शुरू किया किताब बैंक, नर्सरी से 12वीं तक के बच्‍चों समेत इनको होगा फायदा

अनोखी पहल: MP संजय सेठ ने शुरू किया किताब बैंक, नर्सरी से 12वीं तक के बच्‍चों समेत इनको होगा फायदा

Book Bank in Ranchi: सांसद संजय सेठ की पहल पर रांची में अगोड़ा स्थित मोहन मार्केट कॉम्प्लेक्स में किताब बैंक की शुरुआत ...अधिक पढ़ें

    रिपोर्ट : शिखा श्रेया

    रांची. झारखंड की राजधानी रांची में एक ऐसा किताब बैंक है, जहां छात्रों को पढ़ने के लिए मुफ्त में किताबें दी जाती हैं. इस किताब बैंक में नर्सरी से 12वीं तक के बच्चों के लिए किताबें उपलब्ध हैं. इसके अलावा विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए पुस्तकें भी मौजूद हैं. छात्रों को बस अपने आधार कार्ड की छाया प्रति जमा करनी होती है और किताब आवंटित कर दी जाती है.

    दरअसल रांची के सांसद संजय सेठ ने यह पहल की है. उन्होंने रांची में अगोड़ा स्थित मोहन मार्केट कॉम्प्लेक्स में मौजूद अपने कार्यालय में इसकी शुरुआत की है. सांसद की इस पहल से कई लोग जुड़ भी रहे हैं. वह किताब बैंक में पुस्तक डोनेट कर अपना योगदान करते हैं. यहां अभी तक 2.5 लाख से अधिक किताबें जमा हो चुकी हैं. इनमें से करीब एक लाख पुस्तकें पढ़ने के लिए छात्रों को दी जा चुकी हैं.

    …ताकी गरीब बच्चों की ना छूटे पढ़ाई

    किताब बैंक के मैनेजर संजय ने न्यूज़ 18 लोकल को बताया कि कई बार संसाधन के अभाव में गरीब छात्र पढ़ाई से दूर हो जाते हैं. ऐसे छात्रों की मदद के लिए यह पहल की गई है. जिसका बच्चों को लाभ भी मिल रहा है. यहां नर्सरी से लेकर मैट्रिक और प्लस टू के सभी संकायों की किताबें उपलब्ध हैं. इसके साथ यूपीएससी, एसएससी, रेलवे, बैंक, जेपीएससी, सीए की भी पुस्तकें उपलब्ध हैं. जबकि किताब बैंक सुबह 10.30 से शाम 5.30 तक खुला रहता है.

    संजय ने बताया कि यहां किताब लेने के लिए छात्रों को बस अपना आधार कार्ड दिखाना होता है. आधार कार्ड की छाया प्रति जमा लेकर किताब दे दी जाती है. साथ ही आग्रह किया जाता है कि पुस्तक पढ़कर लौटा दें, ताकि दूसरे छात्रों के भी काम आ सके. उन्होंने बताया कि कुछ छात्र किताब लौटाते हैं. वहीं, कुछ अपने जूनियर को सौंप देते हैं. वहीं, सांसद ने सभी लोगों से इस किताब बैंक से जुड़ने की अपील की है, ताकि अधिक बच्‍चों की मदद हो सके.

    mohan market complex

    Tags: Jharkhand news, Ranchi Municipal Corporation, Ranchi news

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें