इस मामले में देश का तीसरा अस्पताल बना रिम्स, ठंड को लेकर हुई ये खास व्यवस्था

कंबल बैंक की स्थापना के साथ ही रिम्स देश का तीसरा सरकारी अस्पताल बन गया, जहां मरीजों और उनके परिजनों के लिए कंबल बैंक शुरू किया गया है.

रिम्स के निदेशक डॉ. डीके सिंह ने कहा कि ठंड के दिनों में कई सामाजिक संस्थाओं द्वारा रिम्स में कंबल वितरण किया जाता है. लेकिन उसका इस्तेमाल सिर्फ वही लोग करते हैं, जिन्हें कंबल मिलता है. डिस्चार्ज के समय परिजन उसे अपने साथ लेकर चले जाते हैं. इसको देखते हुए अन्य मरीज व परिजनों के लिए रिम्स (RIMS) परिसर में कंबल बैंक (Blanket Bank) की स्थापना की गई है.

  • Share this:
    रांची. रिम्स (RIMS) में भर्ती मरीज (Patient) और उनके परिजनों को ठंड (Cold) से बचाने के लिए रिम्स प्रबंधन की ओर से कंबल बैंक (Blanket Bank) खोला गया है. यह बैंक रिम्स में सेंट्रल इमरजेंसी के सामने दवा वितरण केंद्र के बगल में है. गुरुवार को रिम्स के निदेशक डॉ. डीके सिंह व अधीक्षक डॉ. विवेक कश्यप ने इसकी शुरुआत की. उद्घाटन के बाद ही बैंक के सामने कंबल लेने के लिए लंबी कतार लग गई और पहले ही दिन करीब 150 कंबल परिजनों को दी गई. एक कंबल लेने के लिए बतौर सिक्यूरिटी चार्ज 200 रुपया जमा कराना होता है. कंबल लौटाने पर राशि वापस कर दी जाती है.

    मरीज के परिजनों के लिए खुला कंबल बैंक 

    रिम्स के निदेशक डॉ. डीके सिंह ने कहा कि ठंड के दिनों में कई सामाजिक संस्थाओं द्वारा रिम्स में कंबल वितरण किया जाता है. लेकिन उसका इस्तेमाल सिर्फ वही लोग करते हैं, जिन्हें कंबल मिलता है. डिस्चार्ज के समय परिजन उसे अपने साथ लेकर चले जाते हैं. इसको देखते हुए अन्य मरीज व परिजनों के लिए रिम्स परिसर में कंबल बैंक की स्थापना की गई है. ताकि उन्हें बढ़ती ठंड में कंबल के लिए तरसना न पड़े.

    650 कंबल के साल खुला है बैंक 

    रिम्स में मरीजों को भर्ती होने के साथ कंबल उपलब्ध कराया जाता है. लेकिन उनके साथ आने वाले परिजनों को काफी परेशानी होती थी. लेकिन अब कंबल बैंक की स्थापना होने से उन्हें भी कंबल प्राप्त करने में परेशानी नहीं होगी. कंबल बैंक में फिलहाल 650 कंबलों की व्यवस्था है.

    कंबल बैंक वाला देश का तीसरा अस्पताल बना रिम्स 

    रिम्स के निदेशक ने बताया कि आगे इस बैंक में कंबलों की संख्या बढ़ाई जाएगी. कंबल बैंक की स्थापना के साथ ही रिम्स देश का तीसरा सरकारी अस्पताल बन गया, जहां मरीजों और उनके परिजनों के लिए कंबल बैंक शुरू किया गया है. रिम्स के अलावा दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल और बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के सर सुंदरलाल अस्पताल में यह सुविधा उपलब्ध है.

    रिपोर्ट- उपेन्द्र कुमार

    ये भी पढ़ें- रांची: चिटफंड मामले में ED ने डीजेएन कंपनी की 1.66 करोड़ की संपत्ति जब्त की

     

     

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.