रांची के सदर अस्पताल में प्रखंडों से बुलाकर कोविड वॉर्ड में लगाई जा रही डॉक्टरों की ड्यूटी

सदर अस्पताल रांची का कोरोना वॉर्ड.

सदर अस्पताल रांची का कोरोना वॉर्ड.

सदर के डॉक्टरों का इस्तेमाल इमरजेंसी या लेबर रूम में किया जा रहा. सूत्रों का कहना है कि कोरोना वॉर्ड में ड्यूटी करने से बचने के लिए सदर के डॉक्टर सिफारिश के बल पर लगवा रहे दूसरे विभागों में ड्यूटी.

  • Share this:

रांची. रांची के सदर अस्पताल (Ranchi Sadar Hospital) में कोविड-19 मरीजों (covid-19 Patient) के इलाज के लिए तकरीबन 60 डॉक्टर्स की ड्यूटी शिफ्ट के हिसाब से लगी है. लेकिन सूत्रों के अनुसार, इनमें रांची सदर के सिर्फ 10 से 15 डॉक्टर ही अपनी सेवा दे रहे हैं. 35 से 40 डॉक्टर कोरोना नेगेटिव (Corona Negative) होने के बावजूद कोरोना वॉर्ड में ड्यूटी करने से बच रहे हैं. सूत्रों के मुताबिक सदर अस्पताल में कोरोना ड्यूटी से बचने के लिए पैसे और पैरवी का भी खेल खेला जा रहा है. इन डॉक्टरों ने कोरोना वॉर्ड के बजाय अपनी ड्यूटी इमरजेंसी और लेबर रूम में लगवा ली है.

अस्पताल के वरीय प्रभारी का पक्षपात से इनकार

हालांकि, सदर अस्पताल के वरीय प्रभारी, DCH सदर, रांची डॉ. बीएन पोद्दार डॉक्टरों के ड्यूटी रोस्टर में बरते जा रहे भेदभाव से इनकार करते हैं. नेगेटिव होकर लौटे डॉक्टरों की पूर्ववत तैनाती को लेकर वह कुछ भी खुलकर बोल नहीं पाते. लेकिन प्रखंड के डॉक्टरों को बुलाकर सदर अस्पताल में तैनाती की बात स्वीकार करते हैं. सदर के डॉक्टरों के रहते ग्रामीण इलाकों से डॉक्टर क्यों बुलाए गए, इसका कोई जवाब उनके पास नहीं है.

इमरजेंसी या लेबर रूप में जरूरत से ज्यादा डॉक्टरों की ड्यूटी
न्यूज़ 18 के सूत्रों के मुताबिक, दरअसल Covid 19 की ड्यूटी से भाग रहे हैं डॉक्टर. सूत्र बताते हैं कि इमरजेंसी में 7 डॉक्टरों की ड्यूटी लगी हुई है, जबकि वहां 4-5 डॉक्टरों की ही जरूरत है. इसी तरह लेबर रूम में भी 17 से 18 डॉक्टर की ड्यूटी लगाई गई है, जबकि जरूरत 4-5 की ही है. कोविड वॉर्ड में ड्यूटी लगाने के लिए प्रखंडों से 30 से ज्यादा डॉक्टर बुलाए गए हैं. राज्य के अन्य मेडिकल कॉलेजों से भी डॉक्टर बुलाए गए हैं. प्रखंडों से डॉक्टर बुला लिए जाने से ग्रामीण मरीजों को परेशानी हो रही है.

प्रखंडों के डॉक्टरों की ड्यूटी कोविड वॉर्ड में

सूत्र बताते हैं कि रांची सदर के डॉक्टरों का इस्तेमाल सही तरीके से नहीं कर उनकी ड्यूटी इधर-उधर लगाई जा रही है, जबकि कोविड वॉर्ड में उनकी जगह पर प्रखंडों के डॉक्टर्स को बुलाकर ड्यूटी सौंपी जा रही है. बहरहाल रांची सदर अस्पताल में कोरोना ड्यूटी पर लगाए गए डॉक्टरों और शिफ्ट की चर्चा अब सदर अस्पताल की चाहरदीवारी से बाहर निकल चुकी है. और अब सच्चाई को छुपाने के लिए नई-नई कहानियां बुनने का दौर शुरू हो चुका है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज