Assembly Banner 2021

बजट सत्र: विधानसभा में विपक्ष का हंगामा जारी, सदन के अंदर विधायकों ने इस तरह जताया अपना विरोध

झारखंड में चल रहे विधानसभा सत्र के दौरान विपक्ष का हंगामा जारी है.

झारखंड में चल रहे विधानसभा सत्र के दौरान विपक्ष का हंगामा जारी है.

झारखंड में बजट सत्र के दौरान सदन में हंगामा जारी है, झारखंड विधानसभा के अंदर और बाहर बीजेपी के विधायकों ने अलग-अलग अंदाज में विरोध प्रदर्शन किया. किसी ने मेज थपथपाकर तो जमीन पर लेट गया.

  • Last Updated: March 3, 2021, 11:49 AM IST
  • Share this:
रांची. झारखंड में बजट सत्र के दौरान सदन में हंगामे का दौर जारी है. बजट सत्र के तीसरे दिन भी झारखंड विधानसभा के अंदर और बाहर बीजेपी के विधायकों ने जमकर हंगामा किया. सदन के अंदर बीजेपी विधायकों के हंगामे की वजह प्रश्नकाल में व्यवधान देखने को मिला. हालांकि सदन के अंदर इस हो-हल्ले के बीच अल्प सूचित प्रश्न, तारांकित प्रश्न और शून्यकाल के प्रश्न सदन के पटल पर आए और विभागीय मंत्री ने जवाब भी दिया. वैसे सदन के अंदर हंगामे के कारण विधायकों के प्रश्न सुनने- समझने में सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों को दिक्कत हुई. बीजेपी विधायकों के हंगामे और नारेबाजी की वजह दो बार सदन की कार्यवाही को स्थगित करना पड़ा.

जब सदन में ज़मीन पर लेट गए विधायक

बजट सत्र के तीसरे दिन सदन में बीजेपी विधायकों का हंगामा जारी रहा. इस हंगामे के बीच सदन का नजारा तब दिलचस्प हो गया, जब हजारीबाग से बीजेपी के विधायक मनीष जायसवाल जमीन पर लेट गए. मनीष जायसवाल जमीन पर लेटकर कुछ ऐसी हरकत कर रहे थे, जिस पर आसन ने आपत्ति जताई. बाद में मनीष जायसवाल अचानक उठे अपनी जगह पर जा कर हजारीबाग केरोसिन मामले पर अपनी बात रखने लगे.  सत्ता पक्ष ने चुटकी लेते हुये कहा देख लीजिये अध्यक्ष महोदय बिना दवा के ही दौड़ने लगे.



मेज पीट रहे बीजेपी विधायक थक कर वेल में बैठ गए 
झारखंड विधानसभा में बीजेपी विधायकों ने मेज पीटते हुये सदन की कार्यवाही को बाधित करने की पुरजोर कोशिश की. इस कोशिश में बीजेपी के विधायक कुछ हद तक सफल भी रहे. इस कारण जब सदन की कार्यवाही को दो बार स्थगित करना पड़ा. हालांकि विरोध स्वरूप मेज पीट रहे बीजेपी के कई विधायक थक कर वेल में बैठ गए. कई बार ऐसा भी हुआ जब बीजेपी के विधायक मेज पीट रहे थे और दूसरी तरह इस शोर के बीच जनता के सवाल सदन उठ रहे थे.

सदन में सी पी सिंह ने फाड़ी आदेश की कॉपी

सदन में एक बार फिर से बीजेपी के विधायक और पूर्व मंत्री सी पी सिंह अपने रंग में नजर आए. सदन में हो हंगामे के बीच सदन में अपनी सीट पर चुपचाप बैठकर तमाशा देख रहे सीपी सिंह उठे और जोर-जोर से सरकार पर बरसने लगे. सीपी सिंह पहले सीनेट का सदस्य बनाये जाने और फिर हटाये जाने को लेकर लाल-पीला हो रहे थे. उन्होंने कहा कि किसी रहमो करम से यहां तक नहीं पहुंचे है. ऐसा कहते-कहते सीपी सिंह ने आदेश की कॉपी को सदन में सबके सामने फाड़ दिया. बाद में प्रदीप यादव ने विधानसभा अध्यक्ष से कहा कि सीपी सिंह के इस आचरण के लिये सदन में निंदा प्रस्ताव लाया जाना चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज