रांची में कारोबारियों ने लगाया सेल्फ लॉकडाउन, दुकानें बंद, झारखंड चैंबर ने भी की अपील

रांची में कारोबारियों ने सेल्फ लॉकडाउन लगा रखा है.

रांची में कारोबारियों ने सेल्फ लॉकडाउन लगा रखा है.

Ranchi Self Lockdown: झारखंड चैम्बर (Jharkhand Chamber of Commerce) ने व्यवसायियों से अपने प्रतिष्ठानों और दुकानों को बंद रखने की अपील की है. कहा कि राज्य सरकार लॉकडाउन के मुद्दे पर कुछ करने को तैयार नहीं है, ऐसी परिस्थिति में अपने लोगों को यू हीं छोड़ा नहीं जा सकता है.

  • Share this:
रांची. झारखंड में कोरोना महामारी के विकराल रूप को देखते हुए झारखंड चैम्बर ऑफ कॉमर्स ने 21 से 25 अप्रैल तक सेल्फ लॉकडाउन (Self Lockdown) की घोषणा की है. झारखंड चैम्बर के सचिव राहुल मारू ने कहा कि राज्यभर के व्यवसायियों से अपने प्रतिष्ठानों और दुकानों को बंद रखने की अपील की गई है. चैम्बर का मानना है कि राज्यभर के चैम्बर से संबद्ध लोगों की मांग पर ये निर्णय लिया गया है. इस निर्णय का उद्देश्य कोरोना संक्रमण के चेन को तोड़ना और लोगों को इससे बचाना है.

राहुल मारू ने कहा कि जब राज्य सरकार लॉकडाउन के मुद्दे पर कुछ भी करने को तैयार नहीं है, तो ऐसी परिस्थिति में अपने लोगों को छोड़ा नहीं जा सकता है. उम्मीद है कि इस अपील का राज्यभर के व्यवसायियों का समर्थन मिलेगा. हालांकि चैंबर की अपील से पहले सोमवार को रांची में कई इलाकों में बाजार बंद दिखा. मेन रोड इलाके में दुकानें बंद नजर आईं. राजधानी में कोरोना की कड़ी मार को देखते हुए कारोबारियों ने स्वयं दुकान बंद रखने का फैसला लिया है.

लोग दुकानदारों की इस पहल की सराहना कर रहे हैं, हालांकि कुछ लोगों का ये भी कहना है कि रोज कमाने- खाने वालों के लिए इससे परेशानी हो रही है. फिर भी राज्य में कोरोना संक्रमण की रफ्तार को देखते हुए लोगों ने व्यापारियों की पहल की तारीफ की है.

बता दें कि राज्य में रांची में सबसे ज्यादा रांची में कोरोना मरीज मिल रहे हैं. सोमवार को कोरोना ने रांची डीसी के आवासीय कार्यालय में दस्तक दे दी. यहां के तीन कर्मियों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद पूरे कार्यालय परिसर को सेनिटाइज किया गया. ऐहतियात के तौर पर डीसी छवि रंजन ने भी अपनी जांच कराई है. उनके अलावा दफ्तर में कार्यरत सभी पदाधिकारी व कर्मियों की कोविड टेस्टिंग की गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज