लाइव टीवी

सीबीआई का शिकंजा: लेक्चरर नियुक्ति घोटाले में 69 लोगों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल

News18 Jharkhand
Updated: October 1, 2019, 11:31 AM IST
सीबीआई का शिकंजा: लेक्चरर नियुक्ति घोटाले में 69 लोगों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल
जेपीएससी ने साल 2008 में लेक्चरर्स की नियुक्ति की थी.

चार्जशीट में ये भी कहा गया कि आयोग के सदस्यों ने सुनियोजित साजिश के तहत कुछ विशेषज्ञों से सादे मार्क्ससीट पर हस्ताक्षर कराकर रख लिया और बाद में उसमें नंबर डालकर कुछ खास उम्मीदवारों को सफल घोषित किया.

  • Share this:
रांची. लेक्चरर नियुक्ति घोटाले (Lecturer Appointment Scam) में सीबीआई (CBI) ने 69 लोगों के खिलाफ चार्जशीट (Chargesheet) दाखिल की है. इनमें 59 लेक्चरर, जेपीएससी (JPSC) के पूर्व अध्यक्ष, तीन सदस्य, परीक्षा नियंत्रक और पांच परीक्षकों के नाम शामिल हैं. सीबीआई की चार्जशीट में कहा गया है कि जेपीएससी के तत्कालीन अधिकारियों ने परीक्षा प्रणाली में गड़बड़ी कर अपने मनपसंद के 59 परीक्षार्थियों को सफल घोषित कराया. अधिकारियों द्वारा रची गई साजिश में पांच परीक्षक भी शामिल थे. इन परीक्षकों ने अयोग्य उम्मीदवारों को सफल घोषित करने के लिए ज्यादा नंबर दिये.

गड़बड़ी सामने आने के बाद शुरू हुई सीबीआई जांच  

चार्जशीट में ये भी कहा गया कि आयोग के सदस्यों ने सुनियोजित साजिश के तहत कुछ विशेषज्ञों से सादे मार्क्ससीट पर हस्ताक्षर कराकर रख लिया और बाद में उसमें नंबर डालकर कुछ खास उम्मीदवारों को सफल घोषित किया. सीबीआई ने 59 परीक्षार्थियों पर इस साजिश में शामिल होने का आरोप लगाया है.

बता दें कि जेपीएससी के तत्कालीन अध्यक्ष दिलीप प्रसाद, सदस्य गोपाल सिंह, राधा गोविंद प्रसाद, शांति देवी और परीक्षा नियंत्रक एलिस उषा रानी के नाम शामिल हैं. वर्ष 2008 में झारखंड में लेक्चरर्स की नियुक्ति हुई थी. नियुक्ति में गड़बड़ी की बात सामने आने के बाद सीबीआई को जांच का जिम्मा सौंपा गया. सीबीआई ने जांच पूरी कर 69 लोगों के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट दायर की गई है.

इनपुट- भुवन किशोर

ये भी पढ़ें- आतंकी कलीमुद्दीन की रिमांड अवधि 5 दिन बढ़ी, पूछताछ में कुछ सफेदपोशों से साठगांठ का खुलासा

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 1, 2019, 11:30 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर