CBSE 12th Result 2020: झारखंड में फिर लड़कियों का दबदबा, लड़कों से 5.96% ज्यादा सफल

CBSE 12th Result: झारखंड में एक बार फिर लड़कों से लड़कियों का रिजल्ट बेहतर रहा है.
CBSE 12th Result: झारखंड में एक बार फिर लड़कों से लड़कियों का रिजल्ट बेहतर रहा है.

CBSE 12th Result 2020: बिहार-झारखंड के पटना रीजन (Patna Region) में मात्र 74.57 फीसदी बच्चे इस बार पास हुए हैं. रिजल्ट में पटना जोन सबसे नीचे है.

  • Share this:
रांची. सीबीएसई ने 12वीं का रिजल्ट (CBSE 12th Result 2020) जारी कर दिया है. झारखंड (Jharkhand) में एक बार फिर लड़कियों (Girls) ने बाजी मारी है. लड़कों की अपेक्षा 5.96% फीसदी अधिक लड़कियां सफल हुई हैं. बिहार-झारखंड के पटना रीजन (Patna Region) में 74.57 फीसदी बच्चे इस बार पास हुए हैं. रिजल्ट में पटना जोन सबसे नीचे है. जबकि त्रिवेंद्रम जोन से सबसे ज्यादा छात्र 97.76 प्रत‍िशत स्‍टूडेंट्स पास हुए हैं. वहीं 97.05 प्रत‍िशत के साथ बंगलोर जोन दूसरे और 96.17 फीसदी के साथ चेन्नई के छात्र तीसरे स्‍थान पर रहे हैं.

डीपीएस रांची की बात करें तो अंश मक्कर साइंस टॉपर बने हैं. अंश को 99.2% मार्क्स मिला है. अंश को फीजिक्स छोड़कर अन्य सभी विषयों में सौ फीसदी मार्क्स मिले हैं. दूसरे नंबर पर सृजन शास्वत को 98.8% और अणिमा को 98.6% नंबर मिले हैं. कामर्स में निशाचल गोयल को 98% मार्क्स आया है. रिजल्ट जारी होने के बाद बच्चों के साथ-साथ अभिभावकों में भी खुशी देखी गई.

कुल 88.78 फीसदी बच्चे हुए सफल 



सीबीएसई बोर्ड ने 12वीं कक्षा का रिजल्ट घोषित कर दिया है. इसी के साथ रिजल्ट की राह देख रहे 12 लाख स्टूडेंट्स का इंतजार भी खत्म हो गया. इस साल 12वीं कक्षा का कुल पास प्रतिशत 88.78 रहा है, जो पिछले साल के मुकाबले ज्यादा रहा है. पिछले साल बारहवीं क्लास में 83.4 फीसदी स्टूडेंट्स पास हुए थे. इस साल 12वीं की परीक्षा में हिस्सा लेने वाले 12 लाख स्टूडेंट्स सीबीएसई बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट www.results.nic.in पर जाकर नतीजे चेक कर सकते हैं.
बेटियों ने मारी बाजी

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) के 12वीं के नतीजों में इस साल भी बेटियों का पलड़ा ही भारी रहा. इस साल 12वीं की परीक्षा में 92.15% लड़कियों ने सफलता हासिल की है जबकि 86.19% लड़के पास हुए हैं. हालांकि पिछले साल के मुकाबले लड़कों के पास होने का प्रतिशत बेहतर रहा है. पिछले साल 79.40 प्रतिशत लड़के ही पास हो सके थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज