Home /News /jharkhand /

झारखंड में 3 साल में 1 लाख करोड़ खर्च कर बिछाया जाएगा सड़कों का जाल

झारखंड में 3 साल में 1 लाख करोड़ खर्च कर बिछाया जाएगा सड़कों का जाल

Bharatmala Project: केंद्र सरकार झारखंड में सड़क निर्माण पर 1 लाख करोड़ रुपये निवेश करेगी. (सांकेतिक तस्‍वीर)

Bharatmala Project: केंद्र सरकार झारखंड में सड़क निर्माण पर 1 लाख करोड़ रुपये निवेश करेगी. (सांकेतिक तस्‍वीर)

Road Construction in Jharkhand: केंद्र सरकार ने अगले 3 वर्षों में झारखंड में सड़क निर्माण पर 1 लाख करोड़ रुपये का निवेश करने की घोषणा की है. इसके तहत प्रदेश में सड़कों का जाल बिछाया जाएगा, ताकि आवागमन के सुगम होने के साथ ही आर्थिक गतिविधियों को भी बढ़ावा दिया जा सके. केंद्र सरकार की घोषणा से प्रदेश में हर मौसम में कारगर रहने वाली सड़क सुविधा उपलब्‍ध होने की उम्‍मीद है

अधिक पढ़ें ...

    रांची. झारखंड में व्‍यापक पैमाने पर सड़क का निर्माण किया जाएगा. केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने इसके स्‍पष्‍ट संकेत दिया है. उन्‍होंने अगले 3 वर्षों में झारखंड में सड़क निर्माण पर 1 लाख करोड़ रुपये निवेश करने का ऐलान किया था. उनकी इस घोषणा के बाद से झारखंड में सड़क निर्माण से जुड़ी परियोजनाओं को शुरू करने और उसे जल्‍द से जल्‍द पूरा करने की प्रक्रिया शुरू हो गई है. प्रदेश के मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन की सरकार भी झारखंड के सुदूरवर्ती इलाकों तक सड़क की सुविधा पहुंचाने के दिशा में सक्रिय हो गई है.

    केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने इस वर्ष अप्रैल में 3,550 करोड़ की लागत वाली 7 रोड प्रोजेक्‍ट्स का उद्घाटन किया था. इसके अलावा उन्‍होंने 14 अन्‍य सड़क परियोजनाओं की नींव भी रखी थी. उस दौरान उन्‍होंने कहा था कि केंद्र सरकार झारखंड में सड़क निर्माण परियोजनाओं पर अगले 3 वर्षों में 1 लाख करोड़ रुपये का निवेश करेगी. इस मौके पर नितिन गडकरी ने कहा था, ‘भारतमाला प्रोजेक्‍ट अगले साल तक पूरी हो जाएगी. इससे इकोनोमिक कॉरिडोर का विकास होगा. हमें उम्‍मीद है कि प्रदेश सरकार भारतमाला प्रोजेक्‍ट में उल्लिखित सड़क परियोजनाओं को लेकर एक विस्‍तृत परियोजना रिपोर्ट तैयार कर उसे केंद्र को भेजेगी.’

    Passenger Train Fare: धनबाद से पटना का ट्रेन किराया 340 रुपये तक हुआ कम 

    गडकरी ने दिए रास्ते की बाधाएं हटाने के निर्देश

    नितिन गडकरी ने झारखंड के मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन से अनुरोध किया था कि सड़क परियोजनाओं को पूरा करने के लिए जमीन अधिग्रहण और फॉरेस्‍ट क्लियरेंस की प्रक्रिया में तेजी लाई जाए, ताकि इन प्रोजेक्‍ट्स को जल्‍द से जल्‍द पूरा किया जा सके. बता दें कि सड़क परियोजनाओं को पूरा करने में सबसे बड़ी बाधा जमीन अधिग्रहण और वन विभाग की ओर से दिया जाने वाला क्लियरेंस होता है. इन औपचारिकताओं को पूरा करने में काफी वक्‍त लग जाता है, लिहाजा रोड प्रोजेक्‍ट्स को पूरा करने में काफी वक्‍त लगता है.इस दौरान मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन ने सड़क परियोजनाओं के लिए केंद्र की ओर से आवंटित राशि का ब्‍योरा भी दिया था.

    झारखंड को कब-कितनी मिली धनराशि

    सीएम सोरेन ने कहा था कि झारखंड को केंद्र की ओर से इस मद के लिए वित्‍त वर्ष 2017-18 में 205 करोड़ रुपये, वित्‍त वर्ष 2018-19 में 169 करोड़ रुपये, वित्‍त वर्ष 2019-20 में 500 करोड़ रुपये और वित्‍त वर्ष 2020-21 में 675 करोड़ रुपये आवंटित किए गए. उन्‍होंने बताया था कि इसके अलावा प्रदेश सरकार ने झारखंड को पश्चिम बंगाल से जोड़ने के लिए 1,116 करोड़ रुपये की लागत से 72 किलोमीटर सड़क (महौलिया-भरगोड़ा) का निर्माण किया.

    Tags: CM Hemant Soren, Jharkhand news, Union Minister Nitin Gadkari

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर