होम /न्यूज /झारखंड /

IAS पूजा सिंघल के पति अभिषेक झा पर धोखाधड़ी का केस दर्ज, 90 लाख हड़पने का आरोप

IAS पूजा सिंघल के पति अभिषेक झा पर धोखाधड़ी का केस दर्ज, 90 लाख हड़पने का आरोप

मनरेगा घोटाले में आईएएस पूजा सिंघल फिलहाल जेल में बंद हैं. (फाइल फोटो)

मनरेगा घोटाले में आईएएस पूजा सिंघल फिलहाल जेल में बंद हैं. (फाइल फोटो)

IAS Pooja Singhal News: IAS पूजा सिंघल के पति अभिषेक झा पल्स अस्पताल के डायरेक्टर हैं. उनके खिलाफ रांची के बरियातू थाने में केस दर्ज की गई है. आरोप है कि उन्होंने पल्स अस्पताल के इंटीरियर्स का काम करवा कर इंटीरियर डिजाइनर के 90 लाख रुपए नहीं दिये.

अधिक पढ़ें ...

रांची. मनरेगा घोटाले में जेल में बंद आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल के पति अभिषेक झा पर 90 लाख की ठगी का मामला दर्ज किया गया है. अभिषेक झा पल्स अस्पताल के डायरेक्टर हैं और उनके खिलाफ कोर्ट कंप्लेन के माध्यम से रांची के बरियातू थाने में केस दर्ज कराई गई है. पल्स अस्पताल के लिए इंटीरियर्स का काम दिया गया था. इसके लिए बकायद एक लाख का एडवांस भी दिया गया था. लेकिन अस्पताल के उद्घाटन हुए 2 साल से गुजर गए लेकिन इंटीरियर डिजाइनर का 90 लाख रुपए अभी भी बकाया है. जिसको लेकर पीड़ित ने अभिषेक झा के खिलाफ मामला दर्ज कराया है.

इंटीरियर डिजाइनर अभिनदंन सिंह के द्वारा कोर्ट कम्प्लेन दर्ज कराई गई थी, जिसके आधार पर बरियातू थाने में अभिषेक झा के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है. प्राथमिकी में अभिनंदन सिंह ने बताया है कि अभिषेक झा ने पल्स अस्पताल में इंटीरियर और फॉल सीलिंग के लिए एक करोड़ 9 लाख रुपए का काम दिया था. इसके लिए एग्रीमेंट भी की गई थी. एग्रीमेंट के अनुसार अभिषेक झा ने शिकायतकर्ता अभिनंदन सिंह को एडवांस के रूप में एक लाख रुपये दिए थे. इसके अलावा 5 चेक के माध्यम से 18 लाख रुपए दिए. काम शुरू होने के बाद अभिषेक झा ने इंटीरियर डिजाइनर को यह कहा था कि उनके अस्पताल का उद्घाटन फरवरी 2020 में होना है इसलिए वह सारा रकम दो-तीन महीने के बाद दे देंगे. लेकिन समय बीतता गया, शेष बचे पैसे अबतक नहीं दिये गये. जिसके बाद अभिनंदन ने कोर्ट में शिकायत दर्ज कराई.

अभिन्दन सिंह ने बताया की अभिषेक झा से उन्हें भरोसा दिलाया था कि काम पूरा होने के बाद और अस्पताल के उद्घाटन के बाद 2 से 3 महीने में बाकी के पैसे का भुगतान कर दिया जाएगा. वर्क आर्डर के अलावा अलग से भी अभिषेक झा ने कई काम करवाएं, लेकिन जब पैसे की मांग की गई तो वो आनाकानी करने लगे. पैसे की मांग को लेकर अभिनंदन कई बार पल्स अस्पताल भी गए, लेकिन उनका बकाया 90 लाख का भुगतान नहीं हुआ. इसी वजह से उन्होंने कोर्ट के माध्यम से प्राथमिकी दर्ज करवाई है.

Tags: Jharkhand news, Ranchi news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर