कोरोना को लेकर सीएम हेमंत ने अधिकारियों के साथ की बैठक, सदन में बोले- सतर्क है सरकार

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने विधानसभा में कोरोना को लेकर आलाधिकारियों के साथ बैठक की
मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने विधानसभा में कोरोना को लेकर आलाधिकारियों के साथ बैठक की

बाबूलाल के सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि कोरोना वायरस विदेश से भारत आया है. सरकार इसको लेकर सजग है. विपक्ष को केवल खामियां दिखती हैं.

  • Share this:
रांची. झारखंड विधानसभा (Jharkhand Assembly) में सोमवार को कोरोना वायरस (Coronavirus) का मुद्दा उठा. पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी (Babulal Marandi) ने सरकार के रवैये पर सवाल उठाते हुए कहा कि कोरोना महामारी का रूप ले लिया है. लेकिन झारखंड में सरकार ने अबतक कोई कदम नहीं उठाया है. सरकार को जल्द इस दिशा में पहल करनी चाहिए. विपक्षी विधायकों ने अन्य राज्यों की तरह झारखंड में भी शैक्षणिक संस्थाएं एवं सार्वजनिक कार्यक्रमों को बंद करने की मांग की.

बाबूलाल के सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Hemant Soren) ने कहा कि कोरोना वायरस विदेश से भारत आया है. सरकार इसको लेकर सजग है. विपक्ष को केवल खामियां दिखती हैं. कोरोना को लेकर सीएम ने विधानसभा में अधिकारियों के साथ बैठक की. उधर, खूंटी में चीन और थाइलैंड से आये तीन लोगों पर डॉक्टर नजर रख रहे हैं. शुरुआती जांच में इनमें कोरोना के कोई लक्षण नहीं मिले हैं.

आजसू ने उठाया 73 फीसदी आरक्षण का मुद्दा



सदन में आजसू विधायक सुदेश महतो ने 73 फीसदी आरक्षण का मुद्दा उठाया. सीएम हेमंत सोरेन ने जवाब देते हुए कहा कि वैधानिक अड़चनों के कारण अबतक आरक्षण की सीमा नहीं बढ़ाई गई है. लेकिन सरकार इसको लेकर गंभीर है. सरकार जनसंख्या के आधार पर आरक्षण का पक्षधर है. इसलिए वैधानिक अड़चनों को दूर करने में जुटी है. सीएम ने कहा कि 2021 की जनगणना में सभी वर्गों का समावेश होना चाहिए. इसके लिए सदन केन्द्र सरकार से मांग करेगा. जातिगत आधारित जनगणना-2011 को सार्वजनिक करने की मांग राज्य सरकार केन्द्र से करेगी. सीएनटी-एसपीटी कानून को भी सख्ती से लागू कराने के लिए भी सरकार कृतसंकल्पित है.
किसानों को मिलेगी मदद

सदन में बेमौसम बारिश से सूबे के कई जिलों में किसानों को हुई भारी क्षति का भी मुद्दा उठा. इस पर जवाब देते हुए कृषि मंत्री बादल ने भरोसा दिलाया कि बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि से फसलों के नुकसान का आकलन हो रहा है. जिलों से रिपोर्ट आने के बाद किसानों को मदद दी जाएगी. बता दें कि पिछले तीन दिन में बारिश और ओलावृष्टि के चलते सूबे में गेहूं और सब्जियों की फसल को काफी नुकसान पहुंचा है. किसानों के करोड़ों के फसल नष्ट हो गये हैं.

इनपुट- भुवन किशोर, संजय सिन्हा 

ये भी पढ़ें- पहले जमकर शराब पी, फिर MGM अस्पताल में महिला से किया रेप, 10 दिन बाद आरोपी गिरफ्तार

 

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज