Home /News /jharkhand /

chief minister question hour tradition may end in jharkhand assembly jmm mla recommended bruk

झारखंड विधानसभा में मुख्यमंत्री प्रश्नकाल की परंपरा हो सकती है समाप्त, JMM MLA ने की अनुशंसा

Jharkhand Assembly: झारखंड विधानसभा में आने वाले दिनों में मुख्यमंत्री प्रश्नकाल परंपरा समाप्त हो सकती है.

Jharkhand Assembly: झारखंड विधानसभा में आने वाले दिनों में मुख्यमंत्री प्रश्नकाल परंपरा समाप्त हो सकती है.

Jharkhand News: मुख्यमंत्री प्रश्नकाल का विषय मध्यप्रदेश विधानसभा से लिया गया था. विधानसभा के हर सत्र में प्रत्येक सोमवार को दोपहर 12 बजे से साढ़े 12 बजे तक मुख्यमंत्री प्रश्नकाल की परंपरा रही है. तब से सदन में मुख्यमंत्री प्रश्नकाल के दौरान सदस्य सवाल पूछते हैं.

अधिक पढ़ें ...

रांची. झारखंड विधानसभा में आने वाले दिनों में मुख्यमंत्री प्रश्नकाल परंपरा समाप्त हो सकती है. दरअसल बिहार से अलग हुए झारखंड राज्य की स्थापना के बाद शुरुआत से सदन में मुख्यमंत्री प्रश्नकाल की परंपरा चली आ रही है. लेकिन, कार्य संचालन नियमावली की धारा 52 को समाप्त यानी विलोपित करने को लेकर नियम समिति के सदस्य और झामुमो विधायक दीपक बिरुआ ने समिति की अनुशंसा को मंगलवार को सदन पटल पर रखा. इससे प्रश्नकाल विलोपित करने की सियासी चाल चल रही है. हालांकि स्पीकर ने यह नियमन दिया कि समिति की अनुशंसा पर सभी विधायक 14 मार्च तक संशोधन दे सकते हैं.

बता दें, मुख्यमंत्री प्रश्नकाल का विषय मध्यप्रदेश विधानसभा से लिया गया था. विधानसभा के हर सत्र में प्रत्येक सोमवार को दोपहर 12 बजे से साढ़े 12 बजे तक मुख्यमंत्री प्रश्नकाल की परंपरा रही है. तब से सदन में मुख्यमंत्री प्रश्नकाल के दौरान सदस्य सवाल पूछते हैं.

विपक्ष ने खोला मोर्चा 

इधर भाकपा माले विधायक विनोद सिंह ने इस प्रस्ताव का विरोध किया है. उन्होंने कहा कि वे अपना संशोधन स्पीकर को देंगे. विनोद सिंह ने कहा कि जनहित से जुड़े मामलों को लेकर सप्ताह में एक दिन मात्र मुख्यमंत्री से सवाल-जवाब किया जाता है. इस तरह की जब परंपरा शुरुआत कहीं होती है तो सीधा जनता से जुड़े सवालों को लेकर सदन में बात रखी जाती है. अब जब इस तरह की बातें होगी तो निश्चित तौर पर कहा जाएगा कि यह लोकतंत्र के लिए खतरे की घंटी है सदन में कोई विधायक अपने अपने क्षेत्र से जुड़ी समस्याओं को लेकर ही मुख्यमंत्री या फिर संबंधित मंत्री से सवाल जवाब करते हैं जो कि मुख्यमंत्री प्रदेश का मुखिया होता है. इसलिए उनसे सवाल पूछना लोकतंत्र के लिए शुभ संकेत माना जाता है.

कांग्रेस विधायक ने भी किया विरोध 

मुख्यमंत्री प्रश्नकाल को हटाने के प्रस्ताव का सत्तारूढ़ दल कांग्रेस समेत प्रमुख विपक्षी पार्टी भाजपा और भाकपा माले ने विरोध किया है. कांग्रेस विधायक पूर्णिमा नीरज सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री प्रश्नकाल नहीं हटना चाहिए. यह विधायकों के अधिकारों का हनन होगा. विधायक ममता देवी, अनूप सिंह और बंधु तिर्की ने भी इसे सही नहीं ठहराया. भाजपा विधायक मनीष जयसवाल, राज सिन्हा, नीलकंठ सिंह मुंडा, नवीन जयसवाल, भानु प्रताप शाही, अपर्णा सेन गुप्ता, नीरा यादव सहित अन्य ने भी इसका विरोध किया है. उनका कहना है कि यह विधायकों का अधिकार छीनने का प्रयास है.

Tags: Jharkhand Government, Jharkhand News Live

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर