सदन में बीजेपी पर जमकर बरसे CM हेमंत सोरेन, बोले- सबको हिन्दू होना चाहिए ये इनकी सोच

सीएम हेमंत सोरेन ने विधानसभा में बीजेपी पर जमकर हमला बोला. (फाइल फोटो)

सीएम हेमंत सोरेन ने विधानसभा में बीजेपी पर जमकर हमला बोला. (फाइल फोटो)

पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी (Babulal Marandi) पर निशाना साधते हुए सीएम हेमंत सोरेन (Hemant Soren) ने कहा कि आदिवासी हिन्दू है, उनके इस बयान से चकित हूं. मैं भी आदिवासी हूं. कई लोग आदिवासी हैं. आदिवासी समाज पर प्रहार हो रहा है.

  • Share this:

रांची. झारखंड विधानसभा में शुक्रवार को सरकार की ओर से जवाब देते हुए सीएम हेमंत सोरेन ने कहा झारखंड का इतिहास विचित्र और रोमांचक है. झारखंड का आंदोलन सबसे लंबा आंदोलन रहा है. हमें इस पर गर्व है. यह जल-जंगल- जमीन, आदिवासी, शिक्षा, संस्कृति के लिये आंदोलन था.

हेमंत सोरेन ने कहा 20 साल में सभी इस राज्य को दिशा देने का काम किया. सभी ने राज्य आगे खींचने का प्रयास किया है, लेकिन यह राष्ट्रीय औसत से पीछे है. शासन नहीं रहने पर भी जनता हमसे सवाल करती थी. आज भी इन सभी विषयों के समाधान के लिये उसका उत्तर ढूंढ रहे हैं. समाधान में समय जरूर लगेगा.

पेय जल से लेकर रोजगार के मुद्दे पर पूर्व की सरकार पर हमला बोलते हुए हेमंत सोरेन ने कहा कि डबल इंजन की सरकार बहुत कुछ कर सकती थी. लेकिन राज्य में बड़े पैमाने पर स्कूल बंद कर दिये गये. किसानों के नाम पर इजराइल घुमा गया.

मुख्यमंत्री ने कहा कि डोभा घोटाला करने वाले अब कृषि सुधार की बात करते हैं. डैम को चूहा कुतर गए. ये है पूर्व की सरकार का कारनामा. 15 प्रतिशत भी डोभा का इस्तेमाल नहीं हुआ. सरकार आज काम कर रही है, तो इनका पेट खराब हो रहा है. निजी क्षेत्र में 75 प्रतिशत आरक्षण से लेकर आंदोलनकारियों को नौकरी देने की बात करने पर विपक्ष की तबियत खराब हो रही है.
हेमंत सोरेन ने कहा देश के कई राज्यों ने 50 प्रतिशत आरक्षण का लाभ उठाया है. झारखंड सरकार 50 प्रतिशत से ज्यादा का आरक्षण का प्रस्ताव सुप्रीम कोर्ट को भेजने वाली है. सरना धर्म कोड का प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजा गया है.  उन्होंने कहा कि पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी के बयान पर आश्चर्यचकित हुआ कि आदिवासी हिन्दू है. मुझे लगा फिर पलटी मार गए. मैं भी आदिवासी हूं. कई लोग आदिवासी हैं. आदिवासी समाज पर प्रहार हो रहा है. हम महाभारत में भी थे और रामायण में भी. सबको हिन्दू होना चाहिये, ये इनकी सोच है.

हेमंत सोरेन ने कहा झारखंड की पहचान गांव- युवा और मजदूर से है. पशु पालने वाले भूखे नहीं मरते. 50 हजार परिवार को पशुधन योजना से जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है. वन उपज और पर्यटन के क्षेत्र में काफी संभावनाएं हैं. लाह और रेशम में झारखंड देश में सबसे आगे है. लाह और रेशम को कृषि का दर्जा दिया जाएगा. पिछली सरकार ने पानी बंगाल को और बिजली बंगला देश को दे दिया. मनरेगा UPA सरकार की ऐसी योजना जो ग्रामीण क्षेत्र की जीवन रेखा की तरह है. राज्य में इसके तहत 10 करोड़ से अधिक मानव दिवस सृजित किया गया है. राज्य में मनरेगा की मजदूरी 225 रुपया किया गया है. धान क्रय में 4.06 लाख टन पहले ही साल में हो चुका है.

सीएम ने कहा कि सप्ताह में 3 दिन स्कूलों में बच्चों को अंडा देने का निर्णय लिया गया है. साढ़े 4 हजार स्कूल को सुसज्जित करने का फैसला लिया गया है. शिक्षा और स्वास्थ्य विभाग में सबसे ज्यादा पेंच है. पहली बार JPSC की नियमावली बनी है. डेढ़ माह बाद राज्य का कोई ऐसा प्रखंड नहीं होगा जहां BDO नहीं हो.



सीएम ने कहा कि साल 2014 में राज्य में प्रति व्यक्ति ऋण 12 हजार था, 2019 में ये बढ़ कर 24 हजार हो गया. बीजेपी सरकार आय दोगुना नहीं कर पाई, लेकिन कर्ज दोगुना कर दिया. DVC आंख दिखाता है. चुनाव का समय है इसलिए अभी पेट्रोल- डीजल के दर में बढ़ोत्तरी नहीं हो रही है. सीएम ने बिजली बिल के मामले में राहत देने का आश्वासन सदन में दिया.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज