झारखंड में भी शुरू हुआ प्लाज्मा थेरेपी से कोरोना का इलाज, CM हेमंत ने किया उद्घाटन
Ranchi News in Hindi

झारखंड में भी शुरू हुआ प्लाज्मा थेरेपी से कोरोना का इलाज, CM हेमंत ने किया उद्घाटन
सीएम हेमंत सोरेन ने रिम्स में प्लाज्मा थेरेपी से कोरोना के इलाज का शुभारंभ किया.

मुख्यमंत्री हेमंंत सोरेन (Hemant Soren) ने राज्य के सबसे बड़े अस्पताल रिम्स (RIMS) से इसकी शुरुआत करते हुए कोरोना (Corona) को हराने वाले लोगों से प्लाज्मा (Plasma) डोनेट करने की अपील की.

  • Share this:
रांची. झारखंड में भी प्लाज्मा थेरेपी (Plasma Therapy) से कोरोना मरीजों का इलाज (Corona Treatment) शुरू हो गया है. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Hemant Soren) ने आज इसकी शुरुआत रांची में की. रिम्स (RIMS) के बल्ड बैंक में कोरोना को मात दे चुके चार लोगों ने प्लाज्मा डोनेट किया. प्लाज्मा थेरेपी वैसे कोरोना संक्रमितों के लिए अत्यधिक लाभदायक है, जिनके शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने के कारण जीवन संकट में पड़ जाता है.

मुख्यमंत्री हेमंंत सोरेन ने राज्य के सबसे बड़े अस्पताल से इसकी शुरुआत करते हुए कोरोना को हराने वाले लोगों से प्लाज्मा डोनेट करने की अपील की. जिससे कोरोना से जूझ रहे गंभीर मरीजों की जान बचाई जा सके. इस मौके पर सीएम ने रिम्स की सराहना करते हुए लोगों से कोरोना को हराने में साथ आने की अपील की.

वहीं स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने प्लाज्मा थेरेपी को मिल का पत्थर साबित होने की बात कहते हुए कहा कि जल्द ही राज्य के अन्य बड़े अस्पतालों में प्लाज्मा डोनेशन की व्यवस्था की जायेगी.



ये लोग कर सकते हैं प्लाज्मा डोनेट
1. जो कोविड-19 बीमारी से ठीक होकर 28 दिन से ज्यादा गुजार चुके हैं.

02. जिनकी उम्र 18 से 60 वर्ष की है और जिन्हें कोई गंभीर बीमारी किडनी, डायबिटीज, एचआईवी, क्रॉनिक संक्रामक की कोई बीमारी नही है.

03. प्लाज्मा दान करने से पहले व्यक्ति का पूरा मेडिकल टेस्ट होगा, उसके बाद ही प्लाज्मा लिया जाएगा.

04. प्लाज्मा डोनेशन में करीब 3 से 4 घंटे का समय लगता है

5. बल्ड बैंक में एक साल तक प्लाज्मा रखा जा सकता है.

अन्य राज्यों की तरह झारखंड ने भी प्लाज्मा थेरेपी के जरिए कोरोना संक्रमितों को बचाने का प्रयास शुरू कर दिया है. हालांकि कोरोना से जूझ रहे मरीजों के लिए प्लाज्मा थेरेपी ही एकमात्र उपाय है, ये अभी तक निश्चित नहीं हुआ है. मगर अन्य राज्यों में मरीजों के ऊपर किये गये प्रयोग से मेडिकल साइंस को कुछ सफलता जरूर मिली है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading