मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन का उपायुक्तों को निर्देश- हर हाल में महिलाओं को शराब बिक्री से करें दूर
Ranchi News in Hindi

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन का उपायुक्तों को निर्देश- हर हाल में महिलाओं को शराब बिक्री से करें दूर
मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन

मुख्यमंत्री (Hemant Soren) ने रांची उपायुक्त से कहा कि गेतलसुद डैम की स्थिति कांके डैम (kanke Dam) जैसी न हो, इस पर ध्यान दें

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
रांची. झारखण्ड में भूख (Hunger) से किसी की मौत न हो. यह सभी जिले के उपायुक्त (Deputy Commissioners) सुनिश्चित करें. इस बात को गभीरता से लें. अगर ऐसा हुआ तो यह शर्मनाक के साथ दर्दनाक भी होगा. हम सभी को अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन ईमानदारी से करना होगा. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Hemant Soren) ने 14 जिलों के उपायुक्तों एवं उप विकास आयुक्तों के साथ आयोजित विडियो कॉन्फ्रेंसिंग में ये बातें कहीं.

सीएम ने उपायुक्तों को निर्देश दिया कि राशन वितरण, दीदी किचन, मनरेगा व अन्य योजनाओं की समीक्षा करें. साथ ही योजनाओं में इजाफा कर लोगों को रोजगार से जोड़ें. इसमें बिचौलियों को जगह नहीं मिलनी चाहिए. बिचौलियों के पास जॉबकार्ड होने की जानकारी मिली है. ये हावी न हों, इसका ध्यान रखें. ग्रामीणों को रोजगार देना सरकार की प्राथमिकता है. इसमें किसी तरह की लापरवाही न हो, इसका ध्यान रखें. प्रखंड और पंचायत स्तर पर श्रमिकों को चिन्हित कर उन्हें रोजगार उपलब्ध करने की दिशा में कार्य हो. श्रमिकों को पारिश्रमिक का भुगतान भी समय पर करें.

हाट-बाजार में महिलाएं शराब की बिक्री न करें



मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य की महिलाएं हाट-बाजार में शराब की बिक्री न करें. उन्हें बल पूर्वक नहीं हटाकर, ऐसी महिलाओं को अन्य रोजगार से जोड़ने की पहल करनी है. महिलाओं का समूह बनाकर रोजगार के नए अवसर तैयार करना है. सभी उपायुक्त इसके लिए योजना बनाएं.



मनरेगा के काम में लगी मशीनों को जब्त करें

मुख्यमंत्री ने कहा कि मानसून के दौरान कुछ योजनाओं के कार्य बारिश की वजह से बंद हो सकता है. ऐसी स्थिति में ग्रामीणों के लिए मॉनसून के अनुरूप कार्य योजना तैयार करें, ताकि उन्हें बारिश के दौरान भी रोजगार से जोड़ा जा सके. सभी जिले के उपायुक्त इस कार्य को प्राथमिकता के तौर पर करें. स्किल्ड लोगों की भी पहचान करें, जिससे उन्हें उनके कौशल के अनुरूप उद्योगों, खनन, निर्माण व अन्य क्षेत्रों में रोजगार से जोड़ा जा सके. राज्य में जहां भी मनरेगा के तहत हो रहे कार्य में मशीन का उपयोग हो रहा हो, तो उस मशीन को जब्त करें. सभी उपायुक्त इस संबंध में सूचना जारी कर जानकारी दें कि अगर मशीन को कार्य करते पकड़ा गया तो पहली बार में एक माह, दूसरी बार तीन माह और तीसरी बार छह माह मशीन को जब्त कर थाना में रखें. मुख्यमंत्री ने कहा धनबाद व देवघर से जेसीबी मशीन द्वारा कार्य कराने की अधिक शिकायत मिली है.

20 हजार एकड़ में फलदार पौधे लगाने का लक्ष्य

मुख्यमंत्री ने कहा कि करीब 20 हजार एकड़ गैर मजरुआ व रैयती भूमि पर सरकार ने बिरसा हरित ग्राम योजना के तहत फलदार पौधा लगाने का लक्ष्य तय किया है. सभी उपायुक्त इस कार्य पर ध्यान दें. योजना के माध्यम से आने वाले समय में ग्रामीणों को उन फलदार वृक्षों का पट्टा देना है. योजना के तहत बागवानी सखी योजना में महिलाओं के समूह को पांच एकड़ भूमि पर फलदार पौधा के संरक्षण की जिम्मेवारी सौंप, आर्थिक स्वावलंबन सुनिश्चित करना है.

कांके डैम जैसी स्थिति गेतलसूद डैम की न हो

मुख्यमंत्री ने रांची उपायुक्त राजधानी के कांके डैम के कैचमेंट एरिया और ओरमांझी के गेतलसूद डैम में हो रहे अतिक्रमण पर ध्यान देने के लिए कहा. जिससे गेतलसुद डैम की स्थिति कांके डैम जैसी न हो. मुख्यमंत्री ने बोकारो उपायुक्त से कहा कि विभिन्न उद्योगों में कार्यरत छह हजार मजदूर बाहर चले गए हैं. इन उद्योगों के प्रतिनिधियों से बात कर उनकी जगह पर वापस लौटे श्रमिकों को कार्य से जोड़ने का प्रयास करें.

ये भी पढ़ें- झारखंड में तुगलकी फैसला मजदूरों से कहा-काम करने बाहर जाना है तो पहले लो मंजूरी

 
First published: June 5, 2020, 11:23 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading