झारखंड में शहरी मजदूरों को साल में 100 दिनों का रोजगार पक्का, CM ने लॉन्च की ये खास योजना
Ranchi News in Hindi

झारखंड में शहरी मजदूरों को साल में 100 दिनों का रोजगार पक्का, CM ने लॉन्च की ये खास योजना
कोरोना संकट में राज्य के शहरी गरीबों को रोजगार देने के लिए हेमंत सरकार ने नई योजना की शुरुआत की है.(फाइल फोटो)

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Hemant Soren) ने राज्य के शहरी गरीबों (Urban Poor) के लिए नई योजना की शुरुआत की है. इसके तहत सरकार गरीबों को साल में सौ दिनों का रोजगार (Employment) गारंटी के तौर पर देगी.

  • Share this:
रांची. झारखंड में मुख्यमंत्री शहरी योजना के तहत अब शहरी निकाय क्षेत्र के मजदूरों (Laborers) को राज्य सरकार 100 दिन का रोजगार (Employment) देगी. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Hemant Soren) प्रोजेक्ट भवन में मुख्यमंत्री श्रमिक योजना (CM Shramik Yojna) की शुरुआत की. इस मौके पर उन्होंने कहा कि शहरी क्षेत्र में निवास करने वाले वयस्क और कुशल श्रमिकों को एक वित्तीय वर्ष में 100 दिनों का रोजगार गारंटी के तौर पर सरकार उपलब्ध कराएगी.

सीएम ने कहा कि कोरोना काल में बड़ी संख्या में लोग बेरोजगार हुए हैं. ऐसे लोगों के लिए ग्रामीण क्षेत्र की तरह शहरी क्षेत्र के लिए ये योजना शुरू की गई है. इस योजना के तहत 18 वर्ष से ऊपर के युवा को निबंधन के पश्चात 15 दिनों के अंदर रोजगार मुहैया कराया जाएगा. रोजगार नहीं मिलने पर सरकार बेरोजगारी भत्ता देगी. प्रोजेक्ट भवन सभागार से इस योजना की ऑनलाइन शुरुआत करते हुए मुख्यमंत्री ने रांची नगर निगम क्षेत्र के 5 लोगों को जॉब कार्ड भी दिया.

रोजगार पाने के लिए इस पोर्टल पर करना होगा आवेदन



इस अवसर पर नगर विकास विभाग के सचिव विनय कुमार चौबे ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों की तरह शहरी क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को भी सरकार 100 दिनों का रोजगार देगी. विभिन्न विभागों में चल रहे योजना के काम रोजगार दिया जाएगा. इसके लिए श्रमिकों को पोर्टल http://may.jharkhand.gov.in पर आवेदन करना होगा. मजदूरी का भुगतान बैंक खातों के माध्यम से कार्य समाप्ति या एक सप्ताह के बाद किया जाएगा.
5 लाख शहरी गरीब को मिलेगा फायदा

इस योजना के लिए हर बार वार्षिक बजट बनाया जाएगा. राज्य सरकार को उम्मीद है कि इस योजना से राज्य के शहरी क्षेत्र में रहने वाले 5 लाख गरीब परिवारों को लाभ मिलेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज