लाइव टीवी

बुरुगुलीकेरा हत्याकांड की एसआईटी करेगी जांच, दर्ज होंगे दो एफआईआर

Naween Jha | News18 Jharkhand
Updated: January 22, 2020, 7:13 PM IST
बुरुगुलीकेरा हत्याकांड की एसआईटी करेगी जांच, दर्ज होंगे दो एफआईआर
सीएम हेमंत सोरेन ने सात ग्रामीणों की हत्या के मामले में एसआईटी जांच का आदेश दिया है. (फाइल फोटो)

एडीजी ऑपरेशन मुरारी लाल मीना ने कहा कि बुरुगुलीकेरा हत्याकांड की जांच के लिए डीएसपी स्तर की एसआईटी का गठन होगा. दो गुटों की आपसी रंजिश के चलते यह घटना घटी है. इस मामले में पुलिस ने कई लोगों को हिरासत में लिया है.

  • Share this:
रांची. पश्चिम सिंहभूम जिले के गुदड़ी प्रखंड के बुरुगुलीकेरा गांव में सात ग्रामीणों (Villagers) की अगवा कर हत्या (Murder) के मामले में राज्य सरकार ने एसआईटी जांच (SIT investigation) का आदेश दिया है. सीएम हेमंत सोरेन (CM Hemant Soren) ने इस सिलसिले में आलाधिकारियों के साथ बैठक की. बैठक में उन्होंने इस हत्याकांड की जांच के लिए एसआईटी के गठन का आदेश दिया.

बैठक के बाद एडीजी ऑपरेशन मुरारी लाल मीना ने कहा कि बुरुगुलीकेरा हत्याकांड की जांच के लिए डीएसपी स्तर की एसआईटी का गठन होगा. दो गुटों की आपसी रंजिश के चलते यह घटना घटी है. इस मामले में पुलिस ने कई लोगों को हिरासत में लिया है. सातों शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है. फिलहाल घटना के पीछे पत्थलगड़ी की बात नहीं लग रही है.

दर्ज होंगे दो एफआईआर

चाईबासा एसपी इंद्रजीत महथा ने बताया कि बुरुगुलीकेरा गांव में दो गुटों में वर्चस्व को लेकर विवाद हुआ था. पूर्व मुखियापति रणसी बूढ़ और उपमुखिया जेम्स बूढ़ के बीच वर्चस्व की लड़ाई में बीते 16 जनवरी को मृतकों ने आरोपियों के घर में तोड़फोड़ की थी. 17 जनवरी को दोनों गुटों के बीच इसको लेकर बैठक हुई. इसी बैठक से जेम्स बूढ़ समेत 7 लोगों को रणसी बूढ़ के समर्थकों ने अगवा कर लिया और हत्या कर दी. एसपी के मुताबिक इस मामले में दो प्राथमिकी दर्ज होगी. रणसी बूढ़ समेत तीन लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ जारी है.

'सरकार दोषियों को दिलाए सजा'

रणसी बूढ़ पत्थलगड़ी समर्थक है, जबकि जेम्स बूढ़ विरोधी था. पुलिस गांव में कैंप कर रही है. हत्याकांड से दोनों गुटों में तनाव है. उधर दिल्ली में केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने न्यूज-18 से कहा कि घटना दुखद है. जबकि राज्य सरकार खुद को आदिवासियों का हितैषी कहती है. मेरे मंत्रालय द्वारा इस मामले में जानकारी इकट्ठा की जा रही है. जांच का आदेश दिया गया है. प्रदेश सरकार शासन व्यवस्था को दुरुस्त करे और निर्दोष आदिवासियों की हत्या में शामिल लोगों को सजा दिलाए.

ये भी पढ़ें- पत्थलगड़ी का विरोध करने पर अगवा हुए सातों ग्रामीणों के शव बरामद 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 22, 2020, 7:13 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर