मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की नजर में हीरो बने गोड्डा पुलिस के ये जवान, खास अंदाज में कर रहे कोरोना ड्यूटी
Godda News in Hindi

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की नजर में हीरो बने गोड्डा पुलिस के ये जवान, खास अंदाज में कर रहे कोरोना ड्यूटी
कोरोना को लेकर खास अंदाज में ड्यूटी निभाने के लिए सीएम हेमंत सोरेन ने गोड्डा पुलिस के इस जवान की जमकर तारीफ की है.

गोड्डा शहर के कारगील चौक पर तैनात इस जवान का वीडियो वायरल हो रहा है. इसमें जवान बेवहज सड़क पर घूमने वालों को मास्क पहनने के लिए समझा रहे हैं. और मास्क खरीदने के लिए अपने पॉकेट से पैसे देते भी दिखाई दे रहे हैं.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
रांची. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Hemant Soren) ने गोड्डा पुलिस (Godda Police) के एक जवान की जमकर तारीफ की है. साथ ही पुरस्कार देकर हौंसला बढ़ाने को कहा है. गोड्डा शहर के कारगील चौक पर तैनात इस जवान का वीडियो वायरल हो रहा है. इसमें जवान बेवहज सड़क पर घूमने वालों को मास्क (Mask) पहनने के लिए समझा रहे हैं. और मास्क खरीदने के लिए अपने पॉकेट से पैसे भी दे रहे हैं. मुख्यमंत्री ने अपने ट्विटर हैंडल पर इस जवान का वीडियो ट्वीट पर पुरस्कृत करने को कहा है.

सीएम हेमंत सोरेन का ट्वीट 





 

कंट्रोल रूम में मिलने वाली सूचनाओं पर त्वरित कार्रवाई के निर्देश 

इससे पहले बुधवार को मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने लॉकडाउन के तीसरे दिन कोरोना वायरस से निपटने के लिए सूचना भवन में स्थापित राज्यस्तरीय नियंत्रण कक्ष का निरीक्षण किया. बाद में सूचना भवन में वरीय अधिकारियों के साथ कोरोनावायरस के संक्रमण को रोकने के लिए उठाए जा रहे कदमों की समीक्षा की. इस दौरान सीएम ने निर्देश दिया कि जिला के प्रशासनिक अधिकारियों को कार्य का आवंटन कर लोगों को राहत पहुंचाई जाए. छोटे कार्गो विमान की व्यवस्था करें, ताकि जरूरी सामान आ सके. और राज्य स्तरीय कंट्रोल रूम में मिलने वाली सूचनाओं पर त्वरित कार्रवाई होनी चाहिए.

'21 दिन नहीं, 2 माह का बैकअप लेकर काम करें'

सीएम ने आदेश दिया कि राज्य में जहां कहीं भी होम क्वारंटाइन हो रहा है, उसे तत्काल बंद कर दें. और सरकार के क्वारंटाइन में संदिग्ध लोगों को रखा जाए. उन्होंने कहा कि ग्रामीण या शहरी क्षेत्रों में घर छोटे- छोटे होते हैं. ऐसी स्थिति में परिवार के सदस्यों या संपर्क में आने वाले व्यक्ति में संक्रमण फैलने का खतरा हो सकता है. अधिकारी 21 दिन का नहीं, बल्कि 2 माह का बैकअप लेकर काम करें. थर्मल गन, जांच मशीन, मास्क, टेस्ट किट, पीसीआर मशीन, पीपीए ड्रेस, ग्लोब्स जैसे जरूरी चीजों की कमी नहीं होनी चाहिए. सीएम ने राज्य के बाहर फंसे लोगों को मदद पहुंचाने के लिए एक नोडल अफसर नियुक्त करने का आदेश दिया है. यह अधिकारी बाहर फंसे लोगों को मदद पहुंचाने, जरूरतमंदों को राशन व जरूरी सामान उपलब्ध कराने का काम देखेंगे.

कोरोना को लेकर राज्य स्तरीय कंट्रोल रूम शुरू

बता दें कि कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए सरकार ने राज्य स्तरीय कंट्रोल रूम 181 शुरू किया है. राज्य से बाहर रह रहे लोगों के लिए फोन नंबर 0651-2282201 जारी किया गया है. इस पर लोग कोरोना से जुड़ी समस्याएं एवं जानकारी देकर मदद ले सकते हैं.

ये भी पढ़ें- Covid-19: नवी मुंबई में फंसे बोकारो के 63 मजदूर, खाने-पीने के लाले पड़े, मदद की गुहार

 

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading