होम /न्यूज /झारखंड /दुमका हत्याकांड: दुख व्यक्त करने पहुंचे BJP के ब्राह्मण नेताओं पर हेमंत सोरेन ने की टिप्पणी

दुमका हत्याकांड: दुख व्यक्त करने पहुंचे BJP के ब्राह्मण नेताओं पर हेमंत सोरेन ने की टिप्पणी

दुमका की घटना को लेकर हेमंत सोरेन सरकार विपक्ष के निशाने पर है. (फाइल फोटो)

दुमका की घटना को लेकर हेमंत सोरेन सरकार विपक्ष के निशाने पर है. (फाइल फोटो)

झारखंड में तेजी से करवट लेती राजनीति ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की परेशानी बढ़ा दी है. खतियान के बाद खदान के मामले में घ ...अधिक पढ़ें

दुमका. झारखंड के दुमका जिले की बेटी की हत्या के बाद लगातार उसके परिवार से लोगों के मिलने का सिलसिला जारी है. इसी क्रम में गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे, दिल्ली सांसद मनोज तिवारी और कपिल मिश्रा ने भी दुमका जाकर परिजनों से मुलाकात की था. अब इस मामले को लेकर सीएम हेमंत सोरेन ने बीजेपी पर निशाना साधा है. विधानसभा के विशेष सत्र के दौरान सदन में तीनों नेताओं पर टिप्पणी करते हुए हेमंत ने कहा कि दुमका में दुख व्यक्त करने के लिए तीन ब्राह्मण निशिकांत दुबे, मनोज तिवारी और कपिल मिश्रा पहुंचे लेकिन स्थानीय नेता सुनील सोरेन को छोड़ दिया.

सोरेन ने कहा कि जब हमने इस बात पर सवाल उठाया, तो बाबूलाल मरांडी ने दूसरी घटना में सुनील सोरेन को अपने पास बैठा लिया. सीएम ने कहा कि इनका चेहरा इतना भयावह, इतना डरावना और इतना क्रूर है कि उसे पहचानना आसान नहीं है. लेकिन, सत्ता पक्ष इनकी क्रूरता और उनकी सोच को भली-भांति जानता है. अगली बार आपलोग अपना जमानत भी नहीं बचा पायेंगे.

दरअसल सदन में विश्वास मत के दौरान विपक्ष पर हमला बोलते हुए सीएम ने कहा कि इनका चेहरा इतना भयानक और डरावना है कि कोई इन्हें पहचान नहीं सकता. इन्हें करना-धरना कुछ नहीं है. इन्हें लूटकर खाने की आदत हैं. फसल लगाएगा कोई और खाएंगे ये. सोरेन ने कहा कि ये आदिवासी महिला को राष्ट्रपति बनाकर आदिवासी मुख्यमंत्री की कुर्सी छीनना चाहते हैं. इनके मुंह में राम और बगल में छुरी है.

दरअसल बीजेपी की ओर से सांसद मनोज तिवारी, सांसद निशिकांत दुबे और कपिल मिश्रा ने दुमका की पीड़िता के घर पहुंचकर और परिजनों से मुलाकात की थी. इस दौरान मृतका के परिजनों से मुलाकात कर रहे डेलीगेशन के द्वारा सहायता राशि भी मुहैया कराई गयी. परिजनों को 28 लाख रुपए की सहायता राशि दी गई थी.

Tags: CM Hemant Soren, Dumka news, Hemant soren, Jharkhand news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें