लाइव टीवी

झारखंडः CM हेमंत सोरेन की पहल, रघुबर सरकार के जाते ही शुरू हुआ नेताजी की जयंती पर सार्वजनिक अवकाश

Naween Jha | News18 Jharkhand
Updated: January 22, 2020, 4:33 PM IST
झारखंडः CM हेमंत सोरेन की पहल, रघुबर सरकार के जाते ही शुरू हुआ नेताजी की जयंती पर सार्वजनिक अवकाश
रघुवर सरकार ने नेताजी की जयंती पर सार्वजनिक छुट्टी को बंद किया था

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि झारखण्ड नेताजी सुभाष चंद्र बोस की कर्मभूमि रही है. भारत को आजादी दिलाने में उनके योगदान को भुलाया नहीं जा सकता.

  • Share this:
रांची. 23 जनवरी यानी गुरुवार को नेताजी सुभाष चंद्र बोस (Netaji Subhash Chandra Bose) की जयंती (Birth Anniversary) पर झारखंड में सार्वजनिक अवकाश (Public Holiday) रहेगा. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (CM Hemant Soren) के आदेश पर यह ऐलान किया गया है. दरअसल साल 2014 तक नेताजी की जयंती पर सूबे में सार्वजनिक छुट्टी दी जाती थी. लेकिन 2015 से यह छुट्टी बंद कर दी गई. रघुवर दास की भाजपा सरकार ने इस अवकाश को बंद कर दिया था. लेकिन मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने इसकी समीक्षा करते हुए फिर से इसे शुरू करने का आदेश दिया है.

झारखंड से रहा है नेताजी का नाता
इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने नेताजी की जयंती पर फिर से सार्वजनिक अवकाश की व्यवस्था शुरू करने की पहल की है. सीएम ने कहा कि झारखण्ड नेताजी सुभाष चंद्र बोस की कर्मभूमि रही है. भारत को आजादी दिलाने में उनके योगदान को भुलाया नहीं जा सकता. हम सबों को उनके जीवन से प्रेरणा लेनी चाहिए. मुख्यमंत्री ने कहा कि आज के युवाओं को नेताजी सुभाष चंद्र बोस के पदचिह्नों पर चलकर राज्य और देश सेवा में अपना योगदान करना चाहिए.

इस स्टेशन से है नेताजी का खास कनेक्शन

बता दें कि स्वतंत्रता संग्राम के दौरान नेताजी की कर्मभूमि झारखंड भी रही. धनबाद के झरिया के भागा स्टेशन से नेताजी का खास कनेक्शन है. आजादी की लड़ाई के दौरान नेताजी सुभाष चन्द्र बोस यहां आए थे और अंग्रेजों को चकमा देकर भाग निकले थे. इसलिए इस स्टेशन का नाम भागा पड़ा.

भागा की जगह गोमो का नाम बदला
हालांकि धनबाद सेक्शन के भागा स्टेशन की सूरत अच्छी नहीं है. कुछ गिनी-चुनी ट्रेनें ही से भागा से होकर गुजरती हैं. उधर, गोमो स्टेशन का नाम बदलकर नेताजी सुभाष चंद्र बोस करने से इस स्टेशन का कायाकल्प हो गया. मगर अफसोस की बात यह है कि भागा रेलवे स्टेशन के साथ ऐसा कुछ नहीं हुआ.ये भी पढ़ें- झाविमो में शह और मात का खेल अंतिम दौर में, कभी भी हो सकता है पटाक्षेप  

 

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 22, 2020, 4:11 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर