Assembly Banner 2021

जब अपनी कुर्सी से उठकर विपक्षी दलों के आसन पर पहुंचे CM हेमंत सोरेन, कर डाली ये अपील

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन विपक्षी दलों के आसन की ओर गए और बारी-बारी से सभी से विन्रम भाव से मिले.

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन विपक्षी दलों के आसन की ओर गए और बारी-बारी से सभी से विन्रम भाव से मिले.

झारखंड विधानसभा का बजट सत्र शुरू हो चुका है. यह 23 मार्च 2021 तक चलेगा. आगामी 3 मार्च को वित्त मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव सदन में झारखंड का बजट पेश करेंगे. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने विपक्ष से सहयोग की अपील की.

  • Share this:
रांची. कोरोना महामारी के संकट के बीच झारखंड विधानसभा बजट सत्र शुरू हो चुका है. पूरे 16 कार्य दिवस होने हैं. सदन में राज्यपाल के आने और अभिभाषण से ठीक पहले गुरुवार को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन अपनी कुर्सी से उठकर विपक्षी दलों के आसन की ओर गए. बारी-बारी से सभी से विन्रम भाव से मिले. सबसे पहले हेमंत सोरेन निर्दलीय विधायक सरयू राय और आजसू प्रमुख सुदेश महतो के आसन के पास गए. सहयोग की अपील भी की. सभापति की आसान के दाईं ओर बैठे बीजेपी के नेताओं से मुलाकात की और सभी से अनुरोध किया कि बजट सत्र को सुचारू ढंग संचालन करने में सहयोग करें ताक सभी विषयों पर चर्चा राज्य के विकास के लिए हो सके.

उसके बाद एक अन्य स्थिति तब देखने को मिली. राज्यपाल के अभिभाषण के दौरान सत्ता पक्ष के विधायक शांति से बैठे थे. तब बीजेपी नेता सीपी सिंह ने कई बार इशारा किया कि राज्यपाल के अभिभाषण को मेजे थप-थपा कर स्वागत किया जाए क्यूंकि सरकार की उपलब्धियां बताई रही हैं. सिंह के इशारे के बाद सदन में एक अलग ही नजारा देखने को मिला.

लंबित प्रश्न और आश्वासनों की सूची जारी
विधानसभा सचिवालय की ओर से लंबित प्रश्न और आश्वासनों की सूची जारी की गयी है. इस सूची के अनुसार विधानसभा में अब तक 1530 आश्वासन लंबित हैं. इस पर आश्वासन के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई है. इतनी अधिक संख्या में लंबित आश्वासनों पर झारखंड विधानसभा अध्यक्ष रवींद्र नाथ महतो ने चिंता जाहिर की थी. उन्होंने कहा था कि 1530 आश्वासन लंबित होना और उन आश्वासनों के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं होना चिंता की बात है. आपको बता दें कि विधायक अपने क्षेत्र की समस्या को प्रश्न के आलोक में सदन के नेता या प्रश्न से संबंधित विभागीय मंत्री को देते हैं. वहीं, सदन के नेता या संबंधित विभागीय मंत्री की ओर से उस समस्या के समाधान का आश्वासन दिया जाता है. झारखंड विधानसभा का बजट सत्र आगामी 23 मार्च 2021 तक चलेगा. इस दौरान 16 कार्य दिवस होंगे. आगामी 3 मार्च को वित्त मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव सदन में झारखंड का बजट पेश करेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज