Assembly Banner 2021

नई दिल्ली के स्टेकहोल्डर कॉन्फ्रेंस में बोले CM हेमंत- झारखंड में किसी चीज की कमी नहीं है, बस उन्हें तराशने की जरूरत

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि खनिज संपदा के कारण देश में झारखंड की अलग पहचान है.

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि खनिज संपदा के कारण देश में झारखंड की अलग पहचान है.

मुख्यमंत्री (CM Hemant Soren) ने कहा कि झारखंड में आने वाले समय में कुछ ऐसी व्यवस्था स्थापित की जाएंगी, जिससे झारखंड के विकास को एक नई दिशा मिलेगी. समाज के हर तबके को इससे लाभ होगा.

  • Share this:
रांची. झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Hemant Soren) ने कहा कि झारखंड में वे सभी आवश्यक एवं मूलभूत सुविधाएं मौजूद हैं, जो एक उद्योग (Industries) की स्थापना के लिए जरूरी है. झारखंड में किसी चीज की कमी नहीं है. कमी है, तो बस उन्हें सही तरीके से तराशने की, उनका वैल्यू एडीशन करने की. अगर हम अपने राज्य में मौजूद संसाधनों का वैल्यू एडीशन कर पाए, तो झारखंड को देश के अग्रणी राज्यों की श्रेणी में खड़ा कर पाएंगे. इसमें उद्योगपतियों की भूमिका महत्वपूर्ण होगी. सीएम शनिवार को नई दिल्‍ली के ताज पैलेस में उद्योग विभाग, झारखंड के द्वारा आयोजित स्टेकहोल्डर कॉन्फ्रेंस में बोल रहे थे.

मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड में मौजूद खनिज संपदा से राज्य की अलग पहचान तो है ही, यहां स्थापित उद्योगों ने भी झारखंड को देश-दुनिया में विशिष्‍ट पहचान दिलायी है. कई उद्योगों का उदय झारखंड से ही हुआ है. एशिया का सबसे बड़ा स्टील उद्योग झारखंड में ही लगा. एचईसी, टाटा स्टील, बोकारो स्टील प्लांट सहित कई उद्योगों की स्थापना झारखंड में ही हुई. पहली बार खाद फर्टिलाइजर फैक्ट्री भी झारखंड में ही लगी. सरकार आपको आश्वस्त करती है कि आप झारखंड में आएं और उद्योगों की स्थापना करें. सरकार आपके साथ खड़े होकर उद्योगों की स्थापना करने में आपकी मदद करेगी.

मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड में आने वाले समय में कुछ ऐसी व्यवस्था स्थापित की जाएंगी, जिससे झारखंड के विकास को एक नई दिशा मिलेगी. समाज के हर तबके को इससे लाभ होगा. माइंस एवं मिनरल्स सेक्टर तो उद्योगों की स्थापना के लिये तो है ही साथ ही अन्य क्षेत्रों की ओर भी सरकार काम कर रही है. चाहे वो एग्रीकल्चर के क्षेत्र में हो, मोटरवेहिक्ल्स, इलेक्ट्रॉनिक मैनूफैक्चरिंग के क्षेत्र हों या फूड प्रोसेसिंग के क्षेत्र में भी अपार संभावनाएं हैं.



मुख्यमंत्री सोरेन ने कहा कि झारखंड पर्यटन के क्षेत्र में भी तेजी से विकास की ओर बढ़ रहा है. पर्यटन के क्षेत्र में तमाम संभावनाओं पर काम किया जा रहा है, इसमें भी रोजगार के अवसर तलाशे जा रहे हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के युवाओं में कुशलता की कमी नहीं हैं. खेल के क्षेत्र में भी झारखंड के युवा देश-विदेश में परचम लहरा रहे हैं. झारखंड में हॉकी और फुटबॉल के क्षेत्र में भी निवेश किया जा सकता है.
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में जलमार्ग भी सुगम है. बंगाल में हल्दिया पोर्ट भी है जो रांची से मात्र 250 किमी की दूरी पर है. पारादीप है जो 400 किमी और साहेबगंज में गंगा नदी पर निर्माणाधीन पोर्ट है, जो जल्द ही शुरू हो जायेगा. यह रांची से मात्र 350 किमी की दूरी पर है. मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा राज्य में एयर कार्गो के लिए भी जगह चिन्हित किया गया है. राज्य में एयर कार्गो के लिये भी संभावनाएं तलाश की जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज