Home /News /jharkhand /

cm hemant soren suddenly came into action mode know reason jhnj

ऐसा क्या हुआ कि अचानक एक्शन मोड में आ गये हैं मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन?

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन इनदिनों एक्शन मोड में नजर आ रहे हैं.

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन इनदिनों एक्शन मोड में नजर आ रहे हैं.

Jharkhand Politics: मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन अचानक एक्शन मोड में नजर आ रहे हैं. कभी अधिकारियों संग बैठक, तो कभी औचक निरीक्षण ने सबको चौंका दिया है. हालांकि मुख्यमंत्री के इस तेवर को मुख्य विपक्षी दल बीजेपी ने आई वाश करार दिया है.

रांची. झारखंड में कल तक खदान लीज से लेकर ED की दबिश से दबाव में दिख रही हेमंत सोरेन सरकार अब खुद फ्रंटफुट पर खेलने को तैयार दिख रही है. खुद मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन अचानक एक्शन मोड में नजर आ रहे हैं. कभी अधिकारियों संग बैठक, तो कभी औचक निरीक्षण ने सबको चौंका दिया है. हालांकि मुख्यमंत्री के इस तेवर को मुख्य विपक्षी दल बीजेपी ने आई वाश करार दिया है.

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन एक्शन मोड में नजर आ रहे हैं. पहले अधिकारियों संग उच्च स्तरीय बैठक की. बैठक के बाद अवैध खनन पर अधिकारियों के खिलाफ सख्त करवाई का निर्देश जारी किया .  फिर झारखंड मंत्रालय से निकलकर मॉडल स्कूल का निरीक्षण करने पहुंच गए. उसके बाद BAU में निर्माणाधीन पशु वैक्सिनेशन सेंटर का औचक निरीक्षण करने पहुंचे. भवन निर्माण के दौरान अनियमितता पर अधिकारियों को बख्शे नहीं जाने का फरमान भी जारी कर दिया.  क्या ये वर्तमान दबाव से उबरने की राजनीति है या एक्शन में आती सरकार का ट्रेलर. ऐसे तमाम सवाल उठना लाजमी है.

झारखंड में पिछले एक माह से खदान लीज से लेकर ED और अब CBI का मुद्दा राजनीति के केंद्र बिंदु में है. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की सदस्यता रद्द करने को लेकर चुनाव आयोग और हाई कोर्ट में तारीख दर तारीख सुनवाई हो रही है. सरकार को लेकर हर दिन नई अफवाह और राजनीतिक गलियारों में कई तरह के कयास आम बात है.  लेकिन इन तमाम सवालों को नजर अंदाज कर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन एक्शन मोड में दिख रहे हैं.

जेएमएम के केंद्रीय महासचिव विनोद पांडेय का कहना है कि बीजेपी जानबूझ कर गैर बीजेपी सरकार को परेशान करने में लगी है, पर हेमंत सोरेन इससे डरने वाले नहीं . वो फ्रंटफुट पर अच्छी तरह खेलना जानते है और खेल भी रहे हैं.

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के अचानक एक्शन में आते ही बीजेपी भी हैरान है. लेकिन बीजेपी का निशाना भ्रष्टाचार पर है. बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता सह पूर्व विधायक कुणाल षाड़ंगी ने कहा कि मुख्यमंत्री के करीबी IAS अधिकारी पर केंद्रीय एजेंसी का छापा ना सिर्फ राज्य सरकार को बैकफुट पर धकेल रहा है, बल्कि ऐसे कृत्य से झारखंड राज्य भी बैकफुट पर चला गया है. राज्य की हेमंत सोरेन सरकार एक भी बड़ा फैसला नहीं ले पा रही है. संथाल परगाना में अवैध खनन के मामलों से राज्य सरकार की भूमिका का खुलासा हो रहा है.

ये सच है कि राज्य की हेमंत सोरेन सरकार पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं. ये बादल छटेंगे या आने वाले दिन में बारिश होगी, इसके लिये अभी थोड़ा इंतजार करने की जरूरत है. क्योंकि राजनीति में जो दिखता है वो होता नहीं है और जो होता है वो दिखता नहीं है.

Tags: BJP, CM Hemant Soren, Jharkhand news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर