Home /News /jharkhand /

झारखंड के महापुरुष बुधु भगत को सीएम की श्रद्धांजलि

झारखंड के महापुरुष बुधु भगत को सीएम की श्रद्धांजलि

रांची जिला के चान्हों स्थित सिलागाई में बुधु भगत  जयंती समारोह का आयोजन

रांची जिला के चान्हों स्थित सिलागाई में बुधु भगत जयंती समारोह का आयोजन

रांची से 50 किलोमीटर दूर चान्हों के सलगाई में आयोजित इस कार्यक्रम में सीएम ने स्थानीय लोगों से मुलाकात की और उन्हें सरकार की योजनाओं का लाभ लेने के लिए प्रेरित किया.

    झारखंड आदिवासी पहचान वाला राज्य है. लेकिन पिछड़ापन आज भी बरकरार है. आदिवासी समाज को वोट के नजरिए से देखा गया. सीएम रघुवर दास ने शहीद बुधु भगत की जयंती समारोह में यह बात कही. यह कार्यक्रम रांची के चान्हों में आयोजित किया गया.

    झारखंड स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान अंग्रेजों के दांत खट्टे करने वाले शहीद वीर बुधु भगत इस राज्य के महापुरुष हैं. इनके सम्मान में रांची जिला के चान्हों स्थित सिलागाई में जयंती समारोह का आयोजन किया गया. सीएम रघुवर दास ने शदीह को श्रद्धांजलि दी और साथ ही यहां आयोजित विकास मेला का भी निरीक्षण किया. विकास मेला में कई स्टॉल्स लगे थे. मेला में विभिन्न विभागों की योजनाओं को प्रदर्शित किया गया. कार्यक्रम में विधायक गंगोत्री कुजूर और शिवशंकर उरांव शामिल हुए. शिवशंकर उरांव ने कहा कि इस क्षेत्र के जो स्वतंत्रता सेनानी रहे उन्होंने कभी अग्रेंजों की सत्ता मानी ही नहीं.

    रांची से 50 किलोमीटर दूर चान्हों के सलगाई में आयोजित इस कार्यक्रम में सीएम ने स्थानीय लोगों से मुलाकात की और उन्हें सरकार की योजनाओं का लाभ लेने के लिए प्रेरित किया. उन्होंने कहा कि आदिवासी समाज देश की संस्कृति के संरक्षक रहे हैं. इनके नाम पर राजनीति होती रही है. उन्होंने कहा कि आज भी ऐसे क्षेत्रों में विकास की किरण कम पहुंची है. अभी काफी काम करने की जरूरत है. सीएम रघुवर दास ने लोगों से आह्वान किया कि वे अपने क्षेत्र की योजनाओं के चयन के लिए स्थानीय कमिटी बना लें. सीधे उनके पास पैसा आएगा और वे योजनाओं पर काम कर सकेंगे. सीएम ने इसके लिए उन्हें तत्परता दिखाने को कहा.

    Tags: झारखंड, रांची

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर