लाइव टीवी

अंतिम जनसंवाद में सीएम रघुवर ने अधिकारियों को दी संवेदनशील बनने की नसीहत

News18 Jharkhand
Updated: October 24, 2019, 2:58 PM IST
अंतिम जनसंवाद में सीएम रघुवर ने अधिकारियों को दी संवेदनशील बनने की नसीहत
सीएम ने कहा कि जनसंवाद की वजह से सरकार ने कुछ नीतिगत फैसले भी लिए, जिससे कुछ समस्याएं लगभग खत्म से हो गयीं.

सहकारिता विभाग (Cooperative Department) के एक मामले में मुख्यमंत्री (CM Raghuvar Das) ने गव्य विकास पदाधिकारी को फटकार लगाते हुए ईमानदारी से काम करने की नसीहत दी.

  • Share this:
रांची. वर्तमान सरकार के अंतिम जनसंवाद में मुख्यमंत्री रघुवर दास (CM Raghuvar Das) ने लापरवाह अधिकारियों (Officers) को जमकर फटकार लगाई. साथ ही दरियादिली दिखाते हुए एक पीड़ित को मुख्यमंत्री राहत कोष (Chief Minister Relief Fund) से एक लाख रुपए देने का भी निर्देश दिया. बारिश के बीच सूचना भवन में आयोजित जनसंवाद में 13 शिकायतें (Complaints) सुनी गईं. सीएम ने सभी शिकायतों के त्वरीत निष्पादन के निर्देश दिए. सीधी बात कार्यक्रम में गुरुवार को पश्चिमी सिंहभूम, पूर्वी सिंहभूम, साहेबगंज, रांची, गिरिडीह, धनबाद, बोकारो, रामगढ़, गोड्डा और खूंटी के मामले सामने आए.

गव्य विकास पदाधिकारी को फटकार

रांची के सहकारिता विभाग के एक मामले में लाभुक पिको देवी को दो दुधारू गायों के लिए एक लाख 10 हजार रुपए के बदले मात्र 59,580 रुपए का भुगतान किया गया. इसको लेकर मुख्यमंत्री ने गव्य विकास पदाधिकारी को फटकार लगाते हुए ईमानदारी से काम करने की नसीहत दी. एक अन्य मामले में मुख्यमंत्री ने दरियादिली दिखाते हुए पीड़ित को एक लाख रुपए सीएम राहत कोष से देने का निर्देश दिया. मामला धनबाद के टुंडी से जुड़ा हुआ था. राम बाल विकास परियोजना की पर्यवेक्षिका रमावती देवी की सड़क दुर्घटना में मौत हो गई. लेकिन परिजनों को मुआवजे की राशि नहीं मिली. सीएम ने सभी उपायुक्तों को पूर्व में हुए सभी चुनावों की बकाया राशि लोगों को भुगतान करने का भी निर्देश दिया.

अधिकारी बनें संवेदनशील 

एक मई, 2015 को सीधी बात कार्यक्रम की शुरूआत हुई थी. सीएम ने कहा कि कार्यक्रम की सफलता का प्रतिशत 92 रहा. ये बताता है कि कार्यक्रम की पहुंच जनता के बीच काफी ज्यादा रही. गरीबों की आवाज बनी. सीएम ने कहा कि अधिकारियों को और ज्यादा संवेदनशील होना होगा, ताकि लोगों की परेशानियां कम हो सके. जनसंवाद की वजह से सरकार ने कुछ नीतिगत फैसले भी लिए, जिससे कुछ समस्याएं लगभग खत्म से हो गयीं. ट्रांसफर्मर, वृद्धा पेंशन और अनुकंपा के आधार पर नौकरी के मामले शामिल हैं.

ये भी पढ़ें- रांची में आदिवासियों के लिए बनेगा धुमकुड़िया भवन, सीएम ने किया शिलान्यास

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 24, 2019, 2:56 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...